टिप्स: बच्चे के जन्म के बाद पिएं ऑर्गेनिक चाय, बेबी और मॉम को होंगे बहुत फायदे

ऑर्गेनिक चाय: माँ बनना हर महिला के जीवन की सबसे सुखद घटना होती है। बच्चा जीवन में नयापन लाता है। यह शायद ही कभी उसका ध्यान उसके द्वारा अनुभव की गई थकावट, उसके शरीर के टूट-फूट की ओर आकर्षित करता है। फिर भी, बच्चे के जन्म के बाद होने वाली शारीरिक थकान या टूट-फूट की
 
टिप्स: बच्चे के जन्म के बाद पिएं ऑर्गेनिक चाय, बेबी और मॉम को होंगे बहुत फायदे

ऑर्गेनिक चाय: माँ बनना हर महिला के जीवन की सबसे सुखद घटना होती है। बच्चा जीवन में नयापन लाता है। यह शायद ही कभी उसका ध्यान उसके द्वारा अनुभव की गई थकावट, उसके शरीर के टूट-फूट की ओर आकर्षित करता है। फिर भी, बच्चे के जन्म के बाद होने वाली शारीरिक थकान या टूट-फूट की भरपाई के लिए कई उपाय किए जाते हैं। इन्हीं में से एक है ऑर्गेनिक चाय पीना। बच्चे के जन्म के बाद इस चाय को पीने से बच्चे और मां दोनों को फायदा होता है। खास बात यह है कि यह चाय शरीर को ताकत देती है और आयुर्वेद में इसके कई फायदे बताए गए हैं।

पहली डिलीवरी के बाद शारीरिक टूट-फूट को फिर से भरने के लिए आयुर्वेदिक और जैविक सामग्री वाली चाय पिएं। यह स्तन के दूध को बढ़ाने में मदद करता है। प्रसव के बाद ज्यादातर महिलाओं का दूध कम हो जाता है, इसलिए बच्चे को ठीक से पोषण नहीं मिल पाता है। इसके लिए स्तनपान कराने वाली महिलाओं को दूध उत्पादन बढ़ाने के लिए ऑर्गेनिक चाय का सेवन करना चाहिए। ऐसा इसलिए है क्योंकि यह चाय दूध के विकास के लिए आवश्यक सामग्री का उपयोग करके बनाई जाती है।

ऑर्गेनिक टीम से मिलने वाला पोषण मां और बच्चे को स्वस्थ रखता है। खास बात यह है कि इस चाय से बच्चे को पोषक तत्व भी मिलते हैं। यह हड्डियों को मजबूत करता है और पाचन में सुधार करता है। नवजात शिशुओं में होने वाले पेट के रोग नहीं होते हैं।

प्रसव के बाद वजन बढ़ने को नियंत्रित करने के लिए आयुर्वेदिक चाय बेहद फायदेमंद होती है। यह शरीर में जमा अतिरिक्त चर्बी को कम करने में मदद करता है। इससे कैलोरी बर्न होती है, बढ़ा हुआ कोलेस्ट्रॉल जल्दी कम होता है। जैविक चाय में स्तन के दूध से पोषक तत्व होते हैं।

ऑर्गेनिक चाय बच्चे के जन्म के कारण मां की थकान भर देती है। थकी हुई मांसपेशियों को राहत देता है। नींद और मन की शांति के लिए बच्चे के बाद जैविक चाय को आहार में शामिल करना चाहिए। यह निराशा को कम करने और उत्साह बढ़ाने में भी मदद करता है।

आप पुदीना, तुलसी, चाय की पत्ती, लौंग, रसभरी, अदरक, गुलाब की पंखुड़ियां, कैमोमाइल फूल आदि सामग्री का उपयोग करके घर पर ही जैविक चाय बना सकते हैं। इससे बच्चा और मां स्वस्थ रहते हैं।

From Around the web