मेहंदी के इतने सारे औषधीय गुण, आपको पता ही नहीं होंगे

मेहदी का ज्यादा तर इस्तमाल महिलाये आपने हातो को सजाने के लिये उपयोग करती है. इस के अलावा बालो को लगाने के लिये मगर क्या आप को पता है मेहदी के पत्ते एक दवा बनकर भी काम करते है. मेहदी शरीर के विजातीय द्रव्य को बहार निकालती है. मेहदी से छाले चोट, बुखार, सीसी का
 
मेहंदी के इतने सारे औषधीय गुण, आपको पता ही नहीं होंगे

मेहदी का ज्यादा तर इस्तमाल महिलाये आपने हातो को सजाने के लिये उपयोग करती है. इस के अलावा बालो को लगाने के लिये मगर क्या आप को पता है मेहदी के पत्ते एक दवा बनकर भी काम करते है. मेहदी शरीर के विजातीय द्रव्य को बहार निकालती है. मेहदी से छाले चोट, बुखार, सीसी का दर्द, अल्सर हैमरेज, कब्ज आदि रोगोपर मेहदी के पत्तो का इस्तमाल करके अनेक रोगोपर लाभ ले सकते है.

कुष्ठ, चर्म रोग, रक्त शुद्धीकरण रोगो को शरीर से कम करणे के लिये मेहदी के पत्तो का एक चमच रस, एक चमच शहद में मिलाकर नित्य सुबह खाली पेट 2 महिने पिने से लाभ मिलेगा दात और मसुढो से अगर कोई परेशान है. या मुह में वर्ण दिखते है एैसे रोगी मेहदी के पत्तो का रस निकाल कर एक कप गुण गुणे पानी में मिलाकर कुला करणे से दात और मसुढो का दर्द क्षनो में दूर होता है.

मुह के छालो से अगर कोई पिडीत हमेशा परेशान रेहता है एैसा पिडीत मेहदी के कुच्छ पत्तो को मुह में चबा कर मुह में घुमाने से छाले कम होते है. इस के अलावा मेहदी के कुच्छ पत्ते एक ग्लास पानी में अच्छी तरह से गर्म करके वह पानी गुन गुना होने के बाद वह पानी कपडे से छानकर कुला करणे से मुह के छाले कम होने लगते है.

पैरो के तलवो में अगर जलन होती है एैसे वक्त मेहदी के पावडर को ठंडे पानी में भीगोकर पैरो के तलवो को लगाने से जलन कम होने लगती है. दुसरा उपाय सरसो के तेल में मेहदी का पावडर कलाकर और उस में थोडी हल्दी मिलाकर पैरो के तलवो को लगाने से फटे पैर, घाव और जलन क्षनो में ठीक होती है.

सफेद बाल या चमकदार बाल बनाने के लिये 100 ग्राम मेहदी का पावडर, 20 ग्राम आंवला पावडर, एक चमच कॉफी ठंडे दुध में भिगोकर 6 घंटे के बाद यह पेस्ट बालो को लगाये बालो पर मेहदी सुखणे के बाद सुबह वह मेहदी गुण गुणे पानी से या ठंडे पानी से धोये यह प्रयोग से बाल काले घने चम चमाते नजर आयेगे.

From Around the web