अभी करे अपनी त्वचा की सुरक्षा विटामिन E युक्तआहार से, आज ही जाने 

दिनचर्या और खान पान के साथ ही वातावरण में बदलावों का प्रभाव तो मानव जीवन पर पड़ता ही है, साथ ही अपना ख्याल न रखने पर त्वचा पर भी इसका प्रभाव देखने को मिलता है और सूंदर बनना किसे पसंद नहीं है।आज के समय में तो कैसे अपने त्वचा की सुरक्षा अपने आहार में छुपा
 
अभी करे अपनी त्वचा की सुरक्षा विटामिन E युक्तआहार से, आज ही जाने 

दिनचर्या और खान पान के साथ ही वातावरण में बदलावों का प्रभाव तो मानव जीवन पर पड़ता ही है, साथ ही अपना ख्याल न रखने पर त्वचा पर भी इसका प्रभाव देखने को मिलता है और सूंदर बनना किसे पसंद नहीं है।आज के समय में तो कैसे अपने त्वचा की सुरक्षा अपने आहार में छुपा है यह हम देखें तो “विटामिन E” जो की विशेषज्ञों के अनुसार आवशयक है त्वचा के रखरखाव के लिए।

और इसकी पूर्ति हमारे भोजन में है क्योंकि हर पोषक तत्वों का हमें मिलना भोजन के माध्यम से संभव है पर कुछ लोग जब त्वचा की सुरक्षा पर सवाल आ जाता है तो कई सारे दवाइयों का सहारा लेने लगते है कारण सही भोजन के तत्वों का ज्ञान न हो पाना इस वजह से पैसे का खर्च भी बढ़ता जाता है।

बेहद ही काम दामों में घर पर ही उपलब्ध होता है हमारे किचन

“विटामिन E” के दैनिक मात्रा की बात करें तो पुरुषों को १५ IU और महिलाओं को १२ IU रोज लेना चाहिए जो त्वचा की सुरक्षा के लिए उपयुक्त है जानकारों के अनुसार।

तो कौन सी आहार है जहां प्रचुर मात्रा में “विटामिन E” है

बीज और सब्जिओं के तेल में -पालमऑयल ,गेहूं का तेल,सूरजमुखी का तेल ,सोयाबीन का तेल आदि।
सब्जिओं में -ब्रोकोली स्पेनिच टमाटर शकरकंद इत्यादि हरी सब्जिओं में।
फलों में -आम कीवी फल बेरी इत्यादि।
नट और बीज -सूरजमुखी के बीज बादाम ,मुंगपली ,कुम्डे का बीज इत्यादि।
मछली बटर नारियल केकड़ा इत्यादि।
” विटामिन E” के विशेष कार्य की हमारे शरीर पर बात करें तो
यह लाल रक्त कोशिका को बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निबता है यह रक्त कोशिकाओं के बाहरी कवच [ सेल मेम्ब्रेन ] को बनाए रखता है साथ ही अपनी एंटी- ऑक्सीडेंट गुणों के कारण ऑक्सीजन रेडिकल्स [ऑक्सीजन के द्वारा हानिकारण ] से बचता है।

From Around the web