लड़कियों की प्रॉब्लम पीरियड्स, बचने का सबसे बड़ा तरीका

लड़कियों को जब पीरियड्स होते है तो बहुत परेशानियों का सामना करना पड़ता है। उनकी इस परेशानी के समय कोई भी हेल्प नहीं कर सकता। लेकिन इस दौरान केवल उनका साथ केवल और केवल पेड्स ही साथ दे सकते है। इस दौरान लड़कियों की हालत बहुत नाजुक होती है। पीरियड्स के दौरान पर्सनल साफ-सफाई का
 
लड़कियों की प्रॉब्लम पीरियड्स, बचने का सबसे बड़ा तरीका

लड़कियों को जब पीरियड्स होते है तो बहुत परेशानियों का सामना करना पड़ता है। उनकी इस परेशानी के समय कोई भी हेल्प नहीं कर सकता। लेकिन इस दौरान केवल उनका साथ केवल और केवल पेड्स ही साथ दे सकते है। इस दौरान लड़कियों की हालत बहुत नाजुक होती है। पीरियड्स के दौरान पर्सनल साफ-सफाई का ध्यान रखने से लड़कियां कई तरह की बीमारियों से बच सकती हैं। इसमें सबसे ज्यादा काम वो पैड ही आता है जिसका लड़कियां पीरियड्स के दौरान उपयोग करती हैं। क्या आप सब को पता हैं कि पीरियड्स के दौरान एक दिन में कितनी बार पैड बदलना चाहिए।

अगर आपको नहीं पता तो आपको हम बताते है की इस दौरान क्या करना चाहिए,

1-4 घंटे में एक बार पैड बदलें-

पीरियड्स के दौरान लड़कियों को हर 4 घंटे में पैड बदलना चाहिए और अगर आप नार्मल पेड़ का इस्तेमाल कर रही हैं तो इसे हर 2 घंटे में बदलना चाहिए। इस समय को जेनरलाइज नहीं किया जा सकता क्योंकि पैड बदलने का समय इस बात पर निर्भर करता है कि आप जो सैनिटरी नैपकिन यूज कर रही हैं और पीरियड्स के दौरान ब्लड फ्लो कितना हो रहा है। वैसे तो आपको अपनी जरूरत के हिसाब से पैड बदलना चाहिए लेकिन एक पैड को अगर आप ज्यादा समय तक इस्तेमाल करोगी तो आपको प्रॉब्लम हो सकती है।

2- साबुन से जरूर धोएं हाथ-

प्रयोग किये हुए सैनिटरी नैपकिन को सही तरीके से हटा दे क्योंकि यह बैक्टीरिया और इंफेक्शन के होने का कारण बन सकते हैं। सैनिटरी पैड बदलने के बाद हर बार साबुन से अच्छी तरह से हाथ धोएं। अगर आप इन बातों का ध्यान रखोगे तो आपको कभी भी प्रॉब्लम नहीं होगी। अगर आपको पैड की वजह से किसी तरह का इंफेक्शन या रैशेज हो जाएं तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।

From Around the web