घर पर ही बनाएं दाल-चावल का राजस्थानी ढोकला, इसे बनाने की आसान सी विधि

 
Make Rajasthani dhokla of lentils and rice at home easy way to make it

राजस्थान में बहुत मशहूर दाल-चावल का ढोकला बनाने की विधि बताने जा रहे हैं। इसे घर पर बनाना बहुत ही आसान हैं, इससे आप अपने परिवार को ही नहीं अपने रिश्तेदारों को भी बहुत खुश कर सकती हैं। इसको आप अपने परिवार में आने वाले किसी के बर्थडे पर भी बना सकती हैं। इस प्रकार से आप इस रेसिपी की मदद से अपने परिवार में सभी की तारीफें बटोर सकती हैं।

सामग्री: इसे बनाने के लिए आपको निम्न सामिग्री की आवश्यकता पड़ेगी। 

चावल - एक कटोरी

मिक्स दाल-चना दाल,उडद दाल (धुली हुई), मूंग दाल,अरहर दाल - एक कटोरी 

हल्दी - 1 टी स्पून  

लाल मिर्च - 1 टी स्पून 

नमक - स्वादानुसार 

थोड़ा खट्टा दही या छाछ 

तडके के लिए आवश्यक सामग्री: 

एक कटोरी सरसों का तेल

थोड़ी सी राई

हरी मिर्च - 4-5 लंबाई में कटी हुई 

थोड़ी सी चने व उड़द की दाल

बनाने की विधि:

1. सुबह जल्दी चावल व दालों को अलग-अलग भिगोकर रख दीजिये।

2. चार पांच घंटे बाद चावलों को फूलने पर पानी से अलग करके चावल को मिक्सी में पीस लें, इसके बाद मिक्स दालों को पानी से निकालकर पीस लें। 

3. अगर इनको पीसने में कठिनाई हो रही हो तो थोड़ा सा दही या छाछ डालकर इनको दरदरा सा पीस लें। बचा हुआ दही फेंटकर या छाछ को दाल-चावल के मिश्रण में मिक्स कर दें। 

4. अब इसमें स्वादानुसार नमक, हल्दी व लाल मिर्च भी मिला दें। 

5. अब इस मिश्रण को 6 घण्टे तक गर्म जगह पर रख दें। जैसा कि आप जानते हैं गर्मी में खमीर जल्दी उठ जाता है और सर्दी में थोड़ा समय लगता है।

6. अगर आपके पास ढोकला स्टेंड है तो उसे भी इस्तेमाल कर सकते हैं। अगर नहीं है तो किसी गहरी कढ़ाही में 5-6 ग्लास पानी गर्म करने रख दें। उस कढ़ाही पर एक किनारे वाली थाली में चिकनाई लगाकर घोल को उसमें डाल दें। कड़ाही में कोई कटोरी रख उस पर इस थाली को अच्छे से सेट करें जिससे यह गिरे नहीं। दूसरी थाली से पहली थाली को अच्छे से कवर करें और कोई वजन रख दें जिस से पानी घोल में न जाए और भाप से थाली न गिर सके। अगर स्टेंड है तो उसमें पानी डालकर गर्म करें। ढोकला प्लेट पर चिकनाई लगाकर दाल-चावल का खमीर किया हुआ घोल डालकर धीमी आँच पर बनने रख दें। ढक्कन लगाना ना भूलें।

7. आधे घंटे बाद चाकू की नोक से देख लें कि यह पका है या नहीं। अगर पक जायेगा तो यह चाकू पर चिपकेगा नहीं। इसे उतारकर ठंडा होने दें। फिर इसमें चाकू से मनचाहे आकार से निशान लगाकर टुकड़ों को निकाल लें। एक कड़ाही में तेल गर्म करें फिर राई हरी मिर्च के लंबे टुकड़ो का तड़का लगाएँ। चना दाल और उड़द दाल भी इसमें डाल दें। इसके गुलाबी होने पर ढोकले के टुकड़ो को इसमें छोड दें और चलाते हुए ध्यान रखें कि टुकड़ों पर तड़का अच्छे से लग जाए। अब कटी हुई धनिया को इस पर भुरक दें। चाहें तो ऐसे ही खा सकते हैं या फिर टमाटर या धनिया या नारियल की चटनी से भी खा सकते हैं। 

From Around the web