अपनी शरीर को रखना दुरुस्त तो करें इन 4 आदतों को अपनी दिनचर्या में शामिल

सामाजिक, मानसिक और शारीरिक रूप के अलावा हर स्तर पर व्यक्ति का स्वस्थ और सेहतमंद होना जरूरी है। इसलिए हम यहाँ कुछ जरूरी खास 4 आदतें बता रहे हैं जिन्हें शामिल करने से आपका शरीर रहेगा हेल्दी और फिट. 1.फिजकल फिटनेस आधुनिकता और व्यस्त दिनचर्या के कारण है शारीरिक रूप से सक्रिय न होना ।
 
अपनी शरीर को रखना दुरुस्त तो करें इन 4 आदतों को अपनी दिनचर्या में शामिल

सामाजिक, मानसिक और शारीरिक रूप के अलावा हर स्तर पर व्यक्ति का स्वस्थ और सेहतमंद होना जरूरी है। इसलिए हम यहाँ कुछ जरूरी खास 4 आदतें बता रहे हैं जिन्हें शामिल करने से आपका शरीर रहेगा हेल्दी और फिट.

1.फिजकल फिटनेस

आधुनिकता और व्यस्त दिनचर्या के कारण है शारीरिक रूप से सक्रिय न होना । ऐसे में जब भी किसी बीमारी के इलाज के लिए जाते हैं तो विशेषज्ञ दिनभर में कम से कम 30 मिनट शारीरिक रुप से सर्किय रहने की सलाह देते है। इसके लिए आप वर्कआउट के अलावा योग, प्राणायाम या व़ॉक आदि करके भी फिट रहकर बिमारियों से बचे रह सकते है।

2.अच्छा खानपान

बच्चे हों या बडे सभी को अक्सर खाने में किसी न किसी चीज को लेकर न नुकुर करते देखा जाता है। कई आहार विशेषज्ञों की मानें तो संतुलित भोजन में सॉलिड़ के अलावा लिक्विड़ और सेमी लिक्विड़ फुड़ का होना जरुरी है। साथ ही दिनभर की डाइट में प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट और फैट की मात्रा होना अहम है। अन्य पोषक तत्वों के लिए रोजाना की डाइट में बदलाव किए जाए तो बेहतर होगा।

3.जरुरी जांचें

बच्चों में जन्म से लेकर कुछ सालों तक रोगों से बचाव के लिए टिकाकरण करवाना जरुरी है। वहीं महिला हो या पुरुष हर किसी को उम्र के विभिन्न पड़ाव पर प्रमुख रोगों की आशंका को कम करने के लिए अहम जाचों को करवाने की सलाह दी जाती है। खासतौर पर ऐसे लोग जिनके परिवार में किसी न किसी रोग का आनुवांशिक कारण है, उन्हें उस रोग से बचने के लिए नियमित चेकअप कराना जरुरी है। इस दिवस पर साल में एक बार बॉडी चेकअप कराने का संकल्प ले सकते हैं।

4.ये ध्यान रखें

खानपान, शारीरिक रुप से सक्रियता और जरुरी जांचों के अलावा सेहतमंद रहने का अहम जरीए है। हाइजीन का ध्यान रखना। संतुलित मात्रा में यदि मार्केट में मिलने वाली चीजें खाई जाए तो वे भी बुरी नहीं हैं। लेकिन विशेषज्ञ इसलिए भी बाहर की चीजें खाने से मना करतें हैं क्योकि वहां दुषित खाध सामग्रियों का प्रयोग अधिक होता हैं साथ ही साफ-सफाई के अभाव में संक्रमण फैलने की संभावना भी बढ़ जाती हैं। भोजन करने से पहले और शौच आदि के बाद हाथों को अच्छे से धोंए। नाखुनों को नियमित रुप से काटें व साफ रखें। फ्रिज के साथ-साथ रसोई कि सफाई नियमित रुप सें रखें। यदि आपको अत्यधिक पसीना आता है तो पाउड़र का प्रयोग करें।

From Around the web