बुरे भाग्य को आमंत्रित करती है दूसरे से उधार ली गई 6 चीजें, जानिए इनके बारे में अभी 

वास्तु शास्त्र में ऊर्जा का बहुत महत्व होता है। हर मनुष्य की अपनी ऊर्जा होती है जो उसके आसपास रहने वाली चीज़ों को प्रभावित करती है और उनके द्वारा इस्तेमाल की गई चीज़ों को प्रभावित करती है। आप कलम, घडी और रूमाल जैसी चीजों को उधार लेते हैं लेकिन उन्हें इनमे छिपी हुई गुप्त ऊर्जा
 
बुरे भाग्य को आमंत्रित करती है दूसरे से उधार ली गई 6 चीजें, जानिए इनके बारे में अभी 

वास्तु शास्त्र में ऊर्जा का बहुत महत्व होता है। हर मनुष्य की अपनी ऊर्जा होती है जो उसके आसपास रहने वाली चीज़ों को प्रभावित करती है और उनके द्वारा इस्तेमाल की गई चीज़ों को प्रभावित करती है। आप कलम, घडी और रूमाल जैसी चीजों को उधार लेते हैं लेकिन उन्हें इनमे छिपी हुई गुप्त ऊर्जा के बारे में पता नहीं होता है जो उनकी नियति को प्रभावित कर सकती है। आज हम आपको उन चीज़ों के बारे में बताने जा रहे है जो आपको दूसरे लोगो से उधार नहीं लेनी चाहिए। इन चीज़ों को दुसरो से उधार लेना बुरे भाग्य को आमंत्रित करता है……

घडी – कई प्राचीन परम्पराओं के अनुसार आपको किसी और की घड़ी नहीं पहननी चाहिए। किसी दूसरे व्यक्ति की घड़ी को पहनना आपके व्यावसायिक जीवन को प्रभावित कर सकता है और इससे आपको वित्तीय नुकसान भी हो सकता है।

पेन – विभिन्न मान्यताओं के अनुसार, आपको किसी दूसरे व्यक्ति से पेन उधार नहीं लेना चाहिए या ना ही इसे किसी को उधार देना चाहिए। इस मान्यता के पीछे यह तर्क दिया जाता है कि पेन उधार देना और लेना आपके जीवन में वित्तीय अस्थिरता ला सकता है।

सगाई की अंगूठी खरीदने के लिए धन –  उधार लिए गए पैसों से सगाई के अंगूठी खरीदना शुभ नहीं माना जाता है। इसलिए शादी की तरह ही इसके लिए आपको इसके लिए भी पैसों की व्यवस्था खुद ही करनी चाहिए।

विवाह के लिए धन – यदि आप अपने घर पर एक भव्य और शानदार शादी का आयोजन करना चाहते हैं, तो इसके लिए आपको हमेशा खुद से ही पैसे की व्यवस्था करनी चाहिए। आपको शादी के लिए पैसे की व्यवस्था उधार के पैसों से नहीं करनी चाहिए क्योंकि वित्तीय ऋण के साथ विवाहित जीवन शुरू करना बुरा माना जाता है।

कपडे – अगर आपको अपने दोस्तों और रिश्तेदारों से कपडे उधार लेने की आदत है तो इसे तुरंत बंद कर दें। दूसरों से कपडे उधार लेना न केवल आपके लिए दुर्भाग्य लाता है बल्कि यह आपके अंदर नकारात्मक ऊर्जा भी ला सकता है।

किताबें – किताबों को ज्ञान और बुद्धिमता का वाहक माना जाता है। आपको पढ़ने के लिए कभी भी किताबों को उधार नहीं देना चाहिए और न ही उधार लेनी चाहिए। किताबें उधार देना एक मजबूत संकेत है कि आपका ज्ञान दूसरें लोगो द्वारा ले लिया जाएगा।

From Around the web