अगर अप भी पाना चाहते है घोड़े जैसी ताकत तो मात्र १० रु में पाएं

हर पुरूष की इच्छा होती है कि उसका शरीर हमेशा स्वस्थ फिट और ताकतवर रहे। लेकिन आजकल के खराब भोजन से अधिकतर पुरुषों के शरीर मे कमजोरी की समस्या आ जाती है आइए जानते है पुरुषों के लिए ताकत मात्र १० रु में भारत में आम तौर पर ‘कला चना’ (हिंदी) के रूप में जाना
 
अगर अप भी पाना चाहते है घोड़े जैसी ताकत तो मात्र १० रु में पाएं

हर पुरूष की इच्छा होती है कि उसका शरीर हमेशा स्वस्थ फिट और ताकतवर रहे। लेकिन आजकल के खराब भोजन से अधिकतर पुरुषों के शरीर मे कमजोरी की समस्या आ जाती है आइए जानते है पुरुषों के लिए ताकत मात्र १० रु में

अगर अप भी पाना चाहते है घोड़े जैसी ताकत तो मात्र १० रु में पाएं

भारत में आम तौर पर ‘कला चना’ (हिंदी) के रूप में जाना जाता है, चना भारत में शाकाहारी आहार का हिस्सा हैं। ये फैबैसी परिवार के मूल रूप से फलियां हैं पौधों ऊंचाई में कम हैं और अधिकतर उष्णकटिबंधीय और उपोष्णकटिबंधीय क्षेत्रों में पाए जाते हैं। बीज प्रोटीन के उत्कृष्ट स्रोत हैं आम तौर पर दो प्रकार के चना, ‘देसी’ और ‘काबुली’ हैं। ‘देसी’ किस्म में गहरे रंग के छोटे बीज होते हैं जिनमें किसी न किसी बाहरी आवरण होते हैं जबकि ‘काबली’ किस्म चिकनी कोट के साथ तुलनात्मक रूप से हल्के रंगीन सेम हैं।

भुना हुआ चना, पूरेे काले चने, काले बंगाल चने, भूरे रंग के चना, काला चना, काबुली चना इत्यादि के रूप में भी जाना जाता है, भारत में खाए गए सबसे लोकप्रिय स्नैक्स में से एक है।प्रोटीन, फाइबर, खनिज, फोलेट और फैटी एसिड का एक अद्भुत स्रोत है जो कई तरीकों से अच्छे स्वास्थ्य को बढ़ावा देता है। जो 10 ₹ में २५ प्रोटीन देता है।

From Around the web