रूपया कहीं निवेश करने की सोच रहे हैं तो RBI की इस योजना के बारे में जरूर जान लें

दुनिया भर की अर्थव्यवस्था उथलपुथल में है। इसलिए, पारंपरिक निवेश विकल्पों की लाभप्रदता भी दिन-प्रतिदिन घट रही है। इस बीच, RBI की फ्लोटिंग दर बचत बांड एक सुरक्षित विकल्प है। जिससे एक नियमित आय प्राप्त की जा सकती है। इसमें निवेश पर 7.15 फीसदी का गारंटीड रिटर्न मिलेगा। व्यक्ति और हिंदू एचयूएफ में निवेश कर
 
रूपया कहीं निवेश करने की सोच रहे हैं तो RBI की इस योजना के बारे में जरूर जान लें

दुनिया भर की अर्थव्यवस्था उथलपुथल में है। इसलिए, पारंपरिक निवेश विकल्पों की लाभप्रदता भी दिन-प्रतिदिन घट रही है। इस बीच, RBI की फ्लोटिंग दर बचत बांड एक सुरक्षित विकल्प है। जिससे एक नियमित आय प्राप्त की जा सकती है। इसमें निवेश पर 7.15 फीसदी का गारंटीड रिटर्न मिलेगा। व्यक्ति और हिंदू एचयूएफ में निवेश कर सकते हैं। हालांकि, भारतीय मूल के लोग विदेश में रह रहे हैं या एनआरआई इसमें निवेश नहीं कर सकते हैं। भारतीय नागरिक इस बॉन्ड में कम से कम 1,000 रुपये का निवेश शुरू कर सकते हैं। निवेश की कोई अधिकतम सीमा नहीं है।

ये विशेषताएं हैं!

इस बॉन्ड में निवेश के लिए लॉक-इन अवधि 7 वर्ष है, जिसका अर्थ है कि आप इस अवधि के दौरान पैसे नहीं निकाल सकते हैं। इस बॉन्ड पर छमाही ब्याज दिया जाता है। इसका पहला भुगतान 1 जनवरी 2021 को होगा। ब्याज दरें हर छह महीने में तय की जाती हैं। अब आप 1 जनवरी 2021 को अपने निवेश पर 7.15% की ब्याज दर प्राप्त करेंगे। इन बांडों की परिपक्वता पर संचयी ब्याज अर्जित करने का कोई विकल्प नहीं है। इन बॉन्डों में आयकर राहत का लाभ नहीं है। इन बॉन्ड से होने वाली आय पूरी तरह से कर योग्य होगी।

यहां आवेदन करें

आप इस बंधन के लिए ऑनलाइन या ऑफलाइन किसी भी सरकारी बैंक या आईसीआईसीआई बैंक, एचडीएफसी बैंक और एक्सिस बैंक जैसे प्रमुख निजी बैंकों के माध्यम से आवेदन कर सकते हैं। इन बांडों के लिए आवेदन करते समय, आपको अपना बैंक विवरण प्रदान करना होगा ताकि ब्याज सीधे आपके खाते में जमा हो जाए। 60 वर्ष से कम आयु के नागरिक इन बांडों में परिपक्वता से पहले पैसे निकालने के लिए पात्र नहीं हैं।

From Around the web