सुखी दांपत्य जीवन के लिए अपनाएं ये वास्तु टिप्स

अगर आप अपने घर में नियमित रूप से पूजा करेंगे और साथ में सुबह और शाम आरती घर के चारों कोने में दिखाएंगे तो आपके घर में किसी प्रकार की नकारात्मक ऊर्जा का प्रवेश नहीं होगा और अगर आपके घर में कोई नकारात्मक ऊर्जा है तो उसका विनाश हो जाएगा और घर में हमेशा सकारात्मक
 
सुखी दांपत्य जीवन के लिए अपनाएं ये वास्तु टिप्स
  1. अगर आप अपने घर में नियमित रूप से पूजा करेंगे और साथ में सुबह और शाम आरती घर के चारों कोने में दिखाएंगे तो आपके घर में किसी प्रकार की नकारात्मक ऊर्जा का प्रवेश नहीं होगा और अगर आपके घर में कोई नकारात्मक ऊर्जा है तो उसका विनाश हो जाएगा और घर में हमेशा सकारात्मक ऊर्जा का प्रभाव बढ़ जाएगा जिससे जीवन में आपका आनंद और उत्साह का संचार होगा और आपको इसका विशेष लाभ मिलेगा।

  2. आप कभी भी अपने घर में रुकी हुई घड़ी को ना रखें अगर आप इस प्रकार का करेंगे तो आपके जीवन में भी रुकावट और बाद आएगी जिससे आपको इसके गंभीर परिणाम भुगतने पड़ेंगे क्योंकि घर में रुके हुए घड़ी रखने से हमेशा घर का वातावरण खराब रहेगा और आपको धन संबंधित कई गंभीर समस्याओं का सामना करना पड़ेगा इसलिए अगर आपके घर में भी रुकी हुई घड़ी या खराब घड़ी है तो सिर्फ घर से बाहर निकाल कर फेंक दे नहीं तो उसको मरम्मत करवा कर अपने घर में रखें इससे आपके सोए हुए भाग्य जाएंगे और आपको इसका विशेष लाभ मिलेगा।

  3. अगर आप अपने घर में स्वास्तिक का चिन्ह लगा कर रखेंगे तो कभी भी जीवन में आपको गंभीर समस्या आया आप तकलीफों का सामना नहीं करना पड़ेगा क्योंकि जिस घर में स्वास्तिक का चिन्ह होता है वहां कभी भी जो कर भी पता नहीं आती है क्योंकि स्वास्थ्य का भगवान गणेश का प्रतीक होता है और जिस घर में का भगवान गणेश होते हैं वहां पर कभी भी विपत्ति और संकट नहीं आएगी और आपका जीवन हमेशा खुशियों भरा रहेगा और आपको जीवन में इसका विशेष लाभ भी मिलेगा।

  4. अगर आप अपने घर में भोजन कर रहे हैं तो आपको मेरा इस बात का ध्यान देना होगा कि आप अपने पूर्वज और देवी-देवताओं की अलग से पूजा निकाल कर रख दें ताकि आपके ऊपर उनका आशीर्वाद हमेशा बना रहे और जीवन में आपको किसी प्रकार की आर्थिक परेशानियां तकलीफों का सामना करना पड़ेगा उसके बाद उस भोजन को आप अपने घर में गाय या बाहर कुत्ते को खिला दें इससे आपके सभी प्रकार के दुख तकलीफ दूर हो जाएंगे।

 

From Around the web