गर्भावस्था के शुरुआती तीन महीने में क्या करें और क्या ना करें

डॉक्टरों के मुताबिक, कई महिलाएं गर्भावस्था के पहले तीन महीने लेती हैं, यानी, पहला तिमाही बहुत हल्का होता है, जबकि यह समय सबसे महत्वपूर्ण है। उसी समय भ्रूण गर्भ में विकसित होता है आपका शरीर इन तीन महीने में कई प्रकार के भौतिक और हार्मोनल परिवर्तनों से गुज़रता है। ये तीन महीने भी सबसे चुनौतीपूर्ण
 
गर्भावस्था के शुरुआती तीन महीने में क्या करें और क्या ना करें

डॉक्टरों के मुताबिक, कई महिलाएं गर्भावस्था के पहले तीन महीने लेती हैं, यानी, पहला तिमाही बहुत हल्का होता है, जबकि यह समय सबसे महत्वपूर्ण है। उसी समय भ्रूण गर्भ में विकसित होता है आपका शरीर इन तीन महीने में कई प्रकार के भौतिक और हार्मोनल परिवर्तनों से गुज़रता है। ये तीन महीने भी सबसे चुनौतीपूर्ण हैं, क्योंकि इस युग में हुए बदलाव आपके लिए बिल्कुल नए हैं। परीक्षण में परिवर्तन मानसिक जलन बहुत स्वाभाविक है इस समय, पतियों को धैर्य रखना चाहिए इन महीनों में अबर्सन की आशंकाएं सबसे ज्यादा हैं।

सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन

गर्भावस्था के शुरुआती तीन महीने में क्या करें और क्या ना करें

डॉक्टरों का कहना है कि गर्भावस्था के शुरुआती महीनों में, अत्यधिक भीड़, प्रदूषण।

विकिरण से बचें। ऊबड़ सड़कों पर यात्रा से बचें नींबू पानी या अदरक चाय पूरे दिन मक्खन, नींबू पानी, नारियल का पानी, फलों का रस या हिलाएं जैसे चार या पांच गुना तरल पीएं।

इससे पानी नहीं निकलता है तीन महीने में बच्चा अंग बनना शुरू कर देता है।

ऐसी स्थिति में, भोजन पर ध्यान देना आवश्यक है।

पहले 3 महीनों में इनसे बचें

गर्भावस्था के शुरुआती तीन महीने में क्या करें और क्या ना करें

कई महिलाएं डॉक्टर से परामर्श किए बिना कुछ दवाएं खाने लगती हैं।

लेकिन दवा की कॉर्ड के माध्यम से, बच्चे के खून में प्रवेश करने का खतरा होता है।

इसलिए, पहले तीन महीनों में, डॉक्टर से परामर्श किए बिना कोई दवा न खाएं।

कच्चे मांस, कच्चे अंडे और पनीर की खपत से बचें क्योंकि इस समय मौजूद हानिकारक बैक्टीरिया आपके बच्चे के स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचा सकता है।

बड़े शहरों में प्रदूषण की समस्या बहुत गंभीर है। हवा में फैले हानिकारक कणों के कारण।

गर्भपात की संभावना जारी है।

अल्कोहल और सिगरेट का उपभोग न करें सिगरेट पीने वालों से दूर रहें अल्कोहल बच्चे के रक्त को अंडाकारस के माध्यम से प्रवेश कर सकता है।

कई बाधाओं में इसका शारीरिक और मानसिक विकास कर सकता है।

तनाव बहुत बड़ा नहीं है गर्भावस्था की शुरुआत में कई कारणों से।

कई महिलाएं तनाव में रहना शुरू करती हैं, जिसका उनके बच्चे के स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव पड़ता है।

यह कभी-कभी गर्भपात की ओर जाता है। तो गर्भावस्था के दौरान जितना संभव हो खुश रहो डॉक्टर की सलाह के अनुसार, व्यस्त रहें और व्यायाम करें।

गर्भावस्था के दौरान आहार न करें यह शरीर के लौह, फोलिक एसिड, विटामिन।

कई प्रकार के खनिजों और पोषक तत्वों को कम करता है।

इस समय गर्म टब और सौना स्नान का उपयोग न करें, क्योंकि यह आपके शरीर के तापमान को अचानक बढ़ाएगा इससे शरीर में पानी की कमी हो सकती है।

जिससे बच्चे के लिए जीवन खतरनाक हो सकता है।

गर्भावस्था के दौरान, भोजन अधिक खाना शुरू होता है ऐसी स्थिति में।

वही चीज़ बार-बार खाने की बजाय अधिक तला हुआ और मसालेदार खाना न खाएं इससे गैस।

पालतू जानवर की जलन हो सकती है ताजा खाएं, संक्रमण होने के जोखिम पर जो भी खाया जा रहा है, खाएं, इसलिए खाने से बचें।

3 महीनों में जरूरी है ये टेस्ट

गर्भावस्था के शुरुआती तीन महीने में क्या करें और क्या ना करें

अगर गर्भावस्था की पुष्टि हो तो पहले एक अच्छे गायक डॉक्टर के पास जाओ और सलाह लें और पंजीकृत हो जाएं। स्वास्थ्य और चिकित्सा इतिहास के अनुसार, डॉक्टर आपको कुछ परीक्षण करने की सलाह दे सकते हैं।
आपको निश्चित रूप से हीमोग्लोबिन, कैल्शियम, रक्त शर्करा, मूत्र और एचआईवी परीक्षण करना चाहिए। ये परीक्षण हर तीन महीने में किए जाते हैं
यदि किसी भी प्रकार का कोई रूप नहीं है, तो डॉक्टर आमतौर पर नहीं जानते हैं। अल्ट्रासाउंड परीक्षण दूसरे महीने में बच्चे की दिल की धड़कन है, बच्चे को चौथे महीने में देखने और प्रसव के महीने में बच्चे की स्थिति देखने के लिए।
गर्भावस्था की मिर्गी, हाइपोथायरायडिज्म और थैलेसेमिया के लिए भी जांच की जाती है। अगर किसी भी पॉल्ट में थैलेसेमिया के लक्षण होते हैं, तो बच्चे की भूख 25% बढ़ जाती है।

अगर बच्चा जांच में पाया जाता है, तो डॉक्टर से परामर्श करके गर्भपात करना बेहतर होता है।

मासिक जांच अगर कोई समस्या है, तो यह 15 दिनों में भी चेक किया जाता है।

एक बार बच्चे के पास 28 सप्ताह हो जाने के बाद, दो सप्ताह में एक बार चेकअप की आवश्यकता होती है।

इन चीजों को विशेष रखें

गर्भावस्था के शुरुआती तीन महीने में क्या करें और क्या ना करें

  • उठाओ मत
  • ज्यादा नृत्य मत करो
  • सीढ़ियों पर कूद मत करो
  • ऊँची एड़ी पहनो मत
  • बहुत ज्यादा ड्राइव मत करो
  • लंबी यात्रा मत करो
  • रस्सी कूद मत करो
  • घुटने टेकने के बजाए घुटनों को झुकाएं

From Around the web