करें यह काम, और फिर देखिये जीवन में परिवर्तन

ईश्वर ने इंसानों को सोचने, समझने और महसूस करने का गुण दिया है। जिससे इन्सान सोचकर, समझकर और महसूस करके अपना अच्छा बुरा समझ सकता है, अपने जीने के तरीके को बेहतर बना सकता है, अपनी जिन्दगी में नयापन ला सकता है, अपनी जिन्दगी को यादगार बना सकता है, अपनी जिन्दगी को बदल सकता है।
 
करें यह काम, और फिर देखिये जीवन में परिवर्तन

ईश्वर ने इंसानों को सोचने, समझने और महसूस करने का गुण दिया है। जिससे इन्सान सोचकर, समझकर और महसूस करके अपना अच्छा बुरा समझ सकता है, अपने जीने के तरीके को बेहतर बना सकता है, अपनी जिन्दगी में नयापन ला सकता है, अपनी जिन्दगी को यादगार बना सकता है, अपनी जिन्दगी को बदल सकता है।

 आपको ऐसे ही कामों के बारे में जो आपकी जिन्दगी को बेहतर बनाने में आपकी मदद करेंगें।

1. मुस्कुराहट को अपनी आदत बना लीजिए –

ये बात वैज्ञानिक तरीके से भी साबित हो चुकी है कि मुस्कुराने से, दिल खोलकर हँसने से बहुत सी बीमारियों से बचा जा सकता है। हँसना, मुस्कुराना एक व्यायाम है जो एक दवाई की तरह काम करता है। दिन कम से कम 11-12 बार खुलकर हँसे।

2. नकारात्मकता को अपनी जिन्दगी से निकाल फेकियें –

नकारात्मकता को अपनी जिन्दगी से पूरी तरह से निकाल कर फेंक दीजिये। आपकी जिन्दगी आपके विचारों से ही झलकती है। जैसे आपके विचार होंगे वैसी ही आपकी जिन्दगी होगी, वैसा ही आपका व्यक्तित्व होगा।

3. नयी चीजे सीखने की आदत डालिये –

हमारा दिमाग असीमित जानकारियों को ग्रहण करने की क्षमता रखता है। अपने दिमाग को खुला रखिये। कुछ नया सीखने की आदत आपकी जिंदगी को उत्साह से भर देती है। नये नये काम करते रहिये। नयी नयी चीजें सीखिये।

4. दूसरों से खुद की तुलना ना करें –

हर इंसान की अपनी अलग जिन्दगी है। सबकी अलग अलग योग्यता हैं। सब अपनी मेहनत और योग्यता से अपनी सुख सुविधायें अर्जित करते हैं। इसलिये किसी भी मामले में, किसी भी चीज को लेकर दूसरों से अपनी तुलना ना करें।

5. रोजाना एक अच्छा काम करने की आदत डालें –

रोजाना कोई भी एक ऐसा काम करने की आदत डालिये, जिससे आपको खुशी मिलें। जिससे दूसरों का भला हो, दूसरों को फायदा पहुँचे। कोई भी एक अच्छा काम रोजाना कीजिये।

6. हर छोटी से छोटी कामयाबी का जश्न मनाएं –

अपनी हर छोटी से छोटी सफलता के लिए, अपनी हर छोटी से छोटी कामयाबी के लिए, अपनी अपनी हर छोटी से छोटी उपलब्धि के लिए खुद को शाबाशी दें। अपनी खुद की पीठ थपथपाएं। अपनी हर सफलता का, हर खुशी का जश्न मनाएं।

7. विनम्र बनें, सभ्य बनें, ईमानदार बनें –

स्वभाव से विनम्र तथा व्यवहार से सभ्य बनें। लोगों से आपके मिलने का तरीका, आपकी बातचीत करने का तरीका ही उनकी नजर में आपको अच्छा या बुरा बनाता है।

8. अपनी जिन्दगी में लक्ष्य बनाइयें –

किसी भी चीज़ के लिए लक्ष्य बनाना हमें उस चीज़ ध्यान आकर्षित करने में मदद करता है। लक्ष्य हमें किसी काम को करने का उद्देश्य बताता है और उस काम को करने के लिए दिशा निर्धारण करता है। इसलिए अपनी जिन्दगी का एक मुख्य लक्ष्य बनाइये

9. दूसरों से ज्यादा उम्मीदें ना रखें –

अपेक्षा रखना यूँ तो स्वभाविक गुण है और कुछ हद तक रखनी भी चाहिये, वर्ना बिना अपेक्षाओं और उम्मीदों के जिन्दगी बेरंग हो जायेगी। इसलिए कभी दूसरों से ये अपेक्षा मत रखो कि वो आपसे हमेशा सहमत हों, आपकी हर बात से, हर विचार से सहमत हों, आपके अनुसार काम करें।

10. आशावादी बनें –

एक निराशावादी व्यक्ति को हर अवसर में मुश्किलें, कठिनाइयाँ ही दिखाई देती हैं जबकि एक आशावादी व्यक्ति को हर मुश्किल, हर कठिनाई में भी एक अवसर दिखाई देता है। आशाओं की किरणों को कभी फीकी ना पड़ने दें। जिंदगी की हर समस्या पर सकारात्मकता के साथ विचार करें, आपको रास्ते मिलने लगेंगे।

11. पारिवारिक और सामाजिक जिम्मेदारियों को निभायें –

आप चाहे किसी भी उम्र के हो, अपनी उम्र के हिसाब से अपनी सभी जिम्मेदारियों को जिम्मेदारी के साथ निभायें।

12. रोजाना व्यायाम करें –

रोजाना सुबह शाम या जब भी सम्भव हो कुछ देर व्यायाम जरुर करें। सुबह का शांत वातावरण और शुद्ध तथा ताजी हवा हमारे दिलों दिमाग को तरोताजा कर देती है। व्यायाम करने से माँसपेशियों में उत्तेजना आती है जिससे हमारे अन्दर एक नयी उर्जा का संचार होता है

13. अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखें –

स्वास्थ्य ख़राब होने पर आप पूरे दिन रूखे रूखे से, बुझे हुए से, उदास और कमजोर महसूस करेंगे। इसलिए अपनी जिन्दगी को बेहतर तरीके से जीने के लिए आपको अपना स्वास्थ्य और फिटनेस ठीक रखनी पड़ेगी।

14. नशे, बुरी आदतों से दूर रहें –

किसी भी चीज का नशा, चाहे वो शराब का हो या धुम्रपान का हो या किसी और चीज का हो, हर तरह से आपकी सेहत के लिए खतरनाक है। इसलिए धुम्रपान, शराब, हर तरह के नशे से दूर रहें। हर तरह की गन्दी और बुरी आदत को छोड़ दें। गलत और बुरे लोगों की संगत छोड़ दें।

15. रोजाना पढने की आदत डालें –

पढने से आपके ज्ञान में बढ़ोत्तरी होती है। जिससे आप अपनी जिंदगी से जुडी हर चीज को नए नज़रिये से देखना शुरू कर देते हैं और अपनी जिन्दगी को नए नज़रिये से जीना शुरू कर देते हैं।

From Around the web