आज शरद पूर्णिमा की रात जरुर करें ये काम सुबह उठते ही वो होगा जो आप ने कभी सोचा भी नहीं होगा

सुबह उठते ही शरद पूर्णिमा पर आयु, अच्छा स्वास्थ्य और धन का वरदान प्राप्त होता है। धन की समस्याओं से बचने के लिए शरद पूर्णिमा के दिन विशेष उपाय किए जाते हैं। और साथ ही शरद पूर्णिमा जिसे हम कोजारी पूर्णिमा कहते हैं इस दिन चंद्रमा 16 कला से युक्त होता है। अगर आप इस
 

 सुबह उठते ही शरद पूर्णिमा पर आयु, अच्छा स्वास्थ्य और धन का वरदान प्राप्त होता है। धन की समस्याओं से बचने के लिए शरद पूर्णिमा के दिन विशेष उपाय किए जाते हैं। और साथ ही शरद पूर्णिमा जिसे हम कोजारी पूर्णिमा कहते हैं इस दिन चंद्रमा 16 कला से युक्त होता है। अगर आप इस दिन चंद्रमा को देखकर मनोकामना पूर्ति के लिए विशेष मंत्र का जाप करें तो आपको प्रेम संबंधी मामलों में भी आपको सफलता मिलती है। तो आइए आप भी जानें कि शरद पूर्णिमा के दिन क्या करने से आपको लाभ मिलता है। और धन प्राप्ति के लिए मां लक्ष्मी को कैसे प्रसन्न करें।

 सुबह उठते ही मां लक्ष्मी को ऐसे करें प्रसन्न

सबसे पहले तो रात में आप स्नान करके अपने घर में ही मां लक्ष्मी की प्रतिमा के सामने बैठें।

एक घी का दीया जलाएं। और दीया के अन्दर लाल धागे की बाती ही रखें।

और अब आप मां को गुलाब की पंखुड़ी अगर आपके पास है तो मां लक्ष्मी को अर्पित करें।

उसके बाद आप मां को सफेद मिठाई अथवा खीर का भोग लगाएं।

इसके बाद आप इत्र की शीशी मां को भेंट करें। इसके बाद आप मां लक्ष्मी के बीज मंत्र का 11 माला जप करें।

मां लक्ष्मी का बीज मंत्र

ॐ ह्रीं श्रीं कमले कमलालये प्रसीद प्रसीद्र महालक्ष्मयै नम:।

आप इस मंत्र का कमलगट्टे की माला से जप करें। इसके बाद आप मां से धन की प्राप्ति की कामना करें।

और जो इत्र आपने मां को अर्पित किया है। उसे अपने पास रखें और नियमित रुप से

अपनी नाभि और कलाई में लगाएं। आपका भाग्योदय होगा

और धन संबंधी समस्त परेशानियां दूर होंगी।

शरद पूर्णिमा के उपाय

  1. अगर आप शरद पूर्णिमा के दिन उपवास रखें तो आपके लिए बहुत अच्छा रहता है।

लेकिन अगर आप शरद पूर्णिमा का उपवास नहीं कर सकते हैं

तो आप इस दिन सात्विक भोजन ग्रहण करें। लहसून-प्याज, मांस, मदिरा का सेवन ना करें।

  1. शरद पूर्णिमा के दिन मां लक्ष्मी की रात में पूजा करें और मां लक्ष्मी के सामने घी का दीया जलाएं।

और यह दीपक रात भर जलना चाहिए।

  1. शरद पूर्णिमा के दिन शाम को खीर बनाए और सबसे पहले भगवान

श्रीकृष्ण या भगवान शिव को अर्पित करें। और फिर मध्य रात्रि में आप

चंद्रमा का मंत्र (ऊँ सोम सोमाय नम:) का जप करें। और खीर को चंद्रमा की

रोशनी में रात के दूसरे पहर के दौरान रख दें।

  1. खीर को कांच के बर्तन, मिट्टी के बर्तन अथवा चांदी के बर्तन में ही रखें।

तो आपको अधिक लाभ होगा। किसी अन्य बर्तन में खीर को कदापि ना रखें।

और अगले दिन जल्दी ही उठकर इस खीर का सेवन करें

From Around the web