पोषण माह की अंतिम दिन समारोह का आयोजन

 
Celebration of last day of nutrition month

बिहारशरीफ, 01 अक्टूबर  जिले में स्थापित आंगनबाड़ी केंद्र में शुक्रवार को पोषण माह की अंतिम दिन समारोह का आयोजन किया गया। जिसमें खेल खेल में पढ़ाई और साथ में पोषण की जागरूकता पर प्रथम लक्ष्य रखा गया है। उक्त बातें अस्थावां के बाल विकास परियोजना पदाधिकारी पूजा किरण ने पोषण माह के समापन समारोह के दौरान कही। उन्होंने कहा कि जिले की दो हजार 399 आंगनबाड़ी केंद्रों को अब तक स्कूलों से टैग नहीं किया गया है। नालंदा में तीन हजार 410 आंगनबाड़ी केंद्र स्वीकृत हैं।इनमें से तीन हजार 349 केंद्र संचालित हैं। 61 केंद्र प्रकियाधीन हैं। अब तक 950 केंद्रों को पोषक क्षेत्र में पड़ने वाले स्कूलों से टैग किया जा चुका है। अन्य केंद्रों को टैग करने का काम चल रहा है।टैग होने के बाद उस स्कूल के शिक्षक सप्ताह में रोस्टर के अनुसार केंद्र पर ही जाकर बच्चों को पढ़ाएंगे। उन्हें आगे की पढ़ाई के लिए प्रेरित करेंग। साथ ही यहां से निकलने के बाद उस स्कूल में सीधे नामांकन किया जाएगा। ताकि, अनवरत तरीके से उनकी पढ़ाई चलती रहे।

Celebration of last day of nutrition month

आईसीडीएस की डीपीओ रीना कुमारी ने बतााय कि तीन से छह साल तक के बच्चों को इन आंगनबाड़ी केंद्रों पर खेल खेल में पढ़ने के लिए प्रेरित किया जाता है। साथ ही बच्चों के पोषण का पूरा ख्याल रखा जाता है। सेविकाएं अपने पोषक क्षेत्रों में गर्भवती महिलाओं का भी ख्याल रखती हैं। इस दौरान बच्चे सिर्फ यहां बैठकर खेलते, खाते और पढ़ते हैं। इन केंद्रों को चलाने का लक्ष्य ही कुपोषण को खत्म करना है।डीपीओ ने बताया कि सरकार के आदेशानुसार जिला के सभी केंद्र सोमवार से पहले की तरह चलने लगेंगी। हालांकि, साफ सफाई, मास्क, सेनेटाइजर व अन्य सुरक्षा मानकों का पूरा ख्याल रखा जाएगा। राशन से लेकर बच्चों के खान पान की व्यवस्था भी केंद्रों पर ही शुरू हो जाएगी। कोरोना संकट काल के कारण लंबे समय तक सेविकाओं ने घर घर जाकर ऐसे बच्चों के लिए राशन पहुंचायी थी। उनके घर जाकर पौष्टीक लड्डू बांटे गए थे। अब ये सभी गतिविधियां केंद्र पर चलने लगेंगी।

From Around the web