बच्चा होगा नार्मल डिलीवरी से बस 9 महीने तक ये 3 काम करें , महिलाएं ज़रूर देखें

पहले के जमाने में बच्चे डॉक्टर से नहीं हुआ करते थे । हॉस्पिटल नहीं हुआ करते थे पर फिर भी बच्चे नॉर्मल डिलीवरी से ही पैदा हुआ करते थे और डिलीवरी कराती थी दायमा जो हर गांव में मिलती थी और बहुत ही आसानी से वह नॉर्मल डिलीवरी करा दिया करती थी पर आज के
 
बच्चा होगा नार्मल डिलीवरी से बस 9 महीने तक ये 3 काम करें , महिलाएं ज़रूर देखें

पहले के जमाने में बच्चे डॉक्टर से नहीं हुआ करते थे । हॉस्पिटल नहीं हुआ करते थे पर फिर भी बच्चे नॉर्मल डिलीवरी से ही पैदा हुआ करते थे और डिलीवरी कराती थी दायमा जो हर गांव में मिलती थी और बहुत ही आसानी से वह नॉर्मल डिलीवरी करा दिया करती थी पर आज के समय में टेक्नोलॉजी जितनी ज्यादा आगे बढ़ चुकी है उतनी ही घटिया भी हो चुकी है ।आज नॉर्मल डिलीवरी की इच्छा तो सभी करते हैं पर 100 में से सिर्फ 20 लोगों का ही नॉर्मल डिलीवरी हो पाता है पर यदि 9 महीने तक इन तीन बातों का ख्याल रखा जाए तो बच्चा नॉर्मल डिलीवरी होता है इसलिए इस पोस्ट को अंत तक जरूर पढ़ें ।

बच्चा होगा नार्मल डिलीवरी से बस 9 महीने तक इन 3 बातों का रखें खयाल

1) योगा – प्रेगनेंसी के समय महिलाओं को हर सुबह 1 से 1.5 घंटे का योगा अवश्य करना चाहिए । योगा करने से उनका शरीर लचीला बनता है और उनकी मांसपेशियों में भी ताकत आती है ऐसा करने से उनके शरीर में ताकत बढ़ती है और नॉर्मल डिलीवरी होने में आसानी होती इसलिए हर प्रेग्नेंट महिला को योग जरूर करना चाहिए ।

2) मॉर्निंग वॉक – यदि आप प्रेग्नेंट है तो आपको सुबह-सुबह कम से कम 1 घंटे अवश्य चलना चाहिए सुबह सुबह जब आप चलते हैं तो आपके शरीर में ऑक्सीजन की मात्रा बढ़ती है आपके दिमाग में ऑक्सीजन का प्रवाह बढ़ता है और आपके बच्चे तक भी ऑक्सीजन की पर्याप्त मात्रा पहुंचती है जिसके कारण आपका शरीर को तंदुरुस्त होता ही है और आपका बच्चा भी तंदुरुस्त होता है और आगे चलकर आप की डिलीवरी नार्मल होती है ।

3) शतावरी – यदि आप चाहती हैं आपका बच्चा नॉर्मल डिलीवरी से हो तो आपको हर रात में एक गिलास दूध में 5 ग्राम शतावरी चूर्ण और 10 ग्राम शहद मिलाकर उसे पीना चाहिए शतावरी महिलाओं के शरीर को स्वस्थ रखता हैं हारमोंस को बैलेंस करता हैं जिसके कारण आपके शरीर में किसी भी प्रकार का दर्द या परेशानी नहीं होती और बच्चा भी नॉर्मल पैदा होता है ।

From Around the web