द्रौपदी के अनुसार शादीशुदा स्त्रियाँ कभी न भूलें ये 4 बातें, नहीं तो जीवन होगा संघर्षपूर्ण

महाभारत विश्व का सबसे विशाल धर्म ग्रन्थ है | इसमें उल्लिखित घटनाओं से हमें बहुत कुछ सीखने को मिलता है| भगवान श्री कृष्ण द्वारा अर्जुन को बताई गयी बातें आज तक सम्पूर्ण मानव सभ्यता का मार्गदर्शन कर रही हैं | ठीक इसी प्रकार द्रौपदी ने भगवान कृष्ण की पत्नी सत्यभामा को भी कुछ ऐसी महत्वपूर्ण
 
द्रौपदी के अनुसार शादीशुदा स्त्रियाँ कभी न भूलें ये 4 बातें, नहीं तो जीवन होगा संघर्षपूर्ण

महाभारत विश्व का सबसे विशाल धर्म ग्रन्थ है | इसमें उल्लिखित घटनाओं से हमें बहुत कुछ सीखने को मिलता है| भगवान श्री कृष्ण द्वारा अर्जुन को बताई गयी बातें आज तक सम्पूर्ण मानव सभ्यता का मार्गदर्शन कर रही हैं | ठीक इसी प्रकार द्रौपदी ने भगवान कृष्ण की पत्नी सत्यभामा को भी कुछ ऐसी महत्वपूर्ण बातें बताई थीं, जिसे सभी विवाहित महिलाओं को अवश्य ध्यान में रखनी चाहिए, नहीं तो जीवन में कई प्रकार की कठिनाइयाँ जन्म ले सकती हैं | आइये जानते हैं |

१: स्त्री को कभी भी उसके और पति के बीच की बातों को किसी के साथ भी साझा नहीं करना चाहिए | ऐसा करने से स्त्री का जीवन संकटग्रस्त हो सकता है | ऐसा करने से संसार को आपकी रिश्तों की वास्तविकताएं पता चल जाती हैं और आपके पारिवारिक रिश्ते खराब होते हैं |

२: द्रौपदी ने कहा है कि महिलाओं के लिए पति ही उसका सर्वस्व होता है इसीलिए कठिन परिस्थितियों में अपने पति का साथ देने से समस्याएँ जल्दी ही समाप्त हो जाती हैं | एक पतिव्रता स्त्री के लिए उसका पति ही शक्ति और ज्ञान का स्त्रोत होता है | पति के स्मरण मात्र से ही भीतर की ऊर्जा में सकारात्मक संचार होता है |

३: द्रौपदी के अनुसार जो स्त्रियाँ अपने मन में पति को वश में करने की इच्छा रखती हैं उसका वैवाहिक जीवन कभी सुखी नहीं होता क्योंकि ऐसी कामना करने से रिश्तों में कडवाहट और तनाव की स्थिति उत्पन्न होने लगती है |

४: द्रौपदी ने बताया है कि ऐसी महिलाओं से दूरी बनाकर रखनी चाहिए जो गलत विचार रखती हों | ऐसी महिलाओं से आपके और आपके पति के बीच के सम्बन्ध बिगड़ सकते हैं | अपने पति पर भरोसा करना चाहिए और उससे सारी बातें साझा करनी चाहिए |

From Around the web