चाणक्य के अनुसार होशियार व्यक्ति वही होता है जो हमेशा अपनी इन 5 बातों को गुप्त रखता है

अर्थशास्त्र के जनक चाणक्य ने मानव जीवन को लेकर कई गुप्त बाते बताई थी। आज हम आपको चाणक्य के द्वारा कई गई ऐसी 5 बातों के बारे में बताने जा रहे है जो एक होशियार व्यक्ति हमेशा गुप्त रखता है। चाणक्य के अनुसार पहली बात किसी भी व्यक्ति को अपने धन के बारे में दूसरों
 
चाणक्य के अनुसार होशियार व्यक्ति वही होता है जो हमेशा अपनी इन 5 बातों को गुप्त रखता है

अर्थशास्त्र के जनक चाणक्य ने मानव जीवन को लेकर कई गुप्त बाते बताई थी। आज हम आपको चाणक्य के द्वारा कई गई ऐसी 5 बातों के बारे में बताने जा रहे है जो एक होशियार व्यक्ति हमेशा गुप्त रखता है।

चाणक्य के अनुसार होशियार व्यक्ति वही होता है जो हमेशा अपनी इन 5 बातों को गुप्त रखता है

चाणक्य के अनुसार पहली बात किसी भी व्यक्ति को अपने धन के बारे में दूसरों से बात नहीं करनी चाहिए। इससे लोगों में ईर्ष्या, द्वेष जैसी भावनायें आ जाती है। चाणक्य के अनुसार न तो धन के अधिक होने और न ही धन के कम होने पर इसकी चर्चा दूसरो से करनी चाहिए। होशियार व्यक्ति कभी अपने धन की जानकारी किसी से साझा नहीं करता है।

चाणक्य की दूसरी बात यह है कि हमें कभी भी अपने दुख के बारे में किसी को नहीं बताना चाहिए, क्योंकि आज जमाने में अच्छे लोग बहुत ही कम है जो की आप का दुःख समझ सके, और अगर नहीं समझे तो आप के दुख का लोग मजाक उड़ाते है और आप को और दुःख लगेगा।

चाणक्य की तीसरी बात में यह बताते है की किसी को भी अपनी पत्नी का चरित्र और अच्छाई बुराई किसी से नहीं बतानी चाहिए अपने घर का सुख दुख झगड़ा लड़ाई किसी से नहीं बताना चाहिए नहीं तो इसका भविष्य में अधिक ज्यादा समस्या पैदा हो सकती है।

चाणक्य अपनी चौथी बात में बताते है कि किसी व्यक्ति के जीवन में कभी भी ऐसी घटना घाटी हो जो की उनकी किसी ने बुराई की है तो किसी से नहीं बताना चाहिए क्योंकि कभी भी इससे आप के मान सम्मान को भारी ठेस लगेगा।

चाणक्य के अनुसार होशियार व्यक्ति वही होता है जो हमेशा अपनी इन 5 बातों को गुप्त रखता है

चाणक्य अपनी पांचवी बात में यह बताते है होशियार व्यक्ति अपनी स्त्री की अच्छी या बुराई दूसरो से नहीं करता है। ऐसा व्यक्ति जो लोगों से अपनी स्त्री की बातें साझा करता है तो ऐसे में लोग उसका फायदा उठा सकते हैं।

From Around the web