जानें कैसे एक काला धागा आपको कर्जे से रखेगा दूर, जल्दी जानिए

कहते हैं कि दाएं हाथ में काला डोरा बांधने के कुछ दिनों में ही सुयोग बनने लग जाते हैं और कर्ज धीरे धीरे खत्म और कम होने लगता है काला धागा बुरी ऊर्जा से बचाता है। इस वजह से बुरी ऊर्जा का प्रभाव व्यक्ति पर नहीं पड़ता है। केवल यही नहीं मंगलवार या शनिवार के
 
जानें कैसे एक काला धागा आपको कर्जे से रखेगा दूर, जल्दी जानिए

कहते हैं कि दाएं हाथ में काला डोरा बांधने के कुछ दिनों में ही सुयोग बनने लग जाते हैं और कर्ज धीरे धीरे खत्म और कम होने लगता है काला धागा बुरी ऊर्जा से बचाता है। इस वजह से बुरी ऊर्जा का प्रभाव व्यक्ति पर नहीं पड़ता है। केवल यही नहीं मंगलवार या शनिवार के दिन हनुमान जी के चरणों से लगाकर बांधा गया काला धागा हर मुसीबत से दूर रखता है। अगर आपको भी जीवन में किसी चीज की कमी है और आप अपने धन दौलत और ऐश्वर्य को बढ़ाना चाहते हैं तो मंगलवार या शनिवार के दिन काले रंग का रेशमी या सूती धागा खरीदें।

धागे को घर की तिजोरी पर बांधे धन की कमी नहीं होगी। धागे को आप हनुमान मंदिर ले जाएं। मंदिर में हनुमान जी की मूर्ति के समक्ष बैठकर हनुमान चालीसा का पाठ करें और धागे में नौ छोटी छोटी गांठे लगा दें। उस धागे पर हनुमान जी के चरणों का सिंदूर लगाएं। जयसियाराम का जाप करते हुए धागे को अपने घर लाएं। इस धागे को घर के मुख्य दरवाजे पर बांध दें। ऐसा करने से आपके घर को किसी की बुरी नजर नहीं लगेगी और हनुमान जी स्वयं आपके घर की रक्षा करेंगे। इस धागे को आप घर की तिजोरी पर भी बांध सकते हैं। इससे धन की कभी कमी नहीं होगी।

शनिवार के दिन ब्रह्म मुहूर्त में उठें और सभी नित्य कर्मों से निवृत्त होकर पवित्र हो जाएं। इसके बाद श्रीगणेश सहित इष्ट देवी देवताओं का स्मरण करें। इसके बाद आपकी जितनी लंबाई है उतना ही काला धागा लें और इसे नारियल पर लपेट लें। इस दौरान शनि देव स्मरण करते रहे। धागा लपेटने के बाद नारियल का विधिवत पूजन करें। पूजन होने के बाद इस नारियल को किसी पवित्र नदी में प्रवाहित कर दें। यदि व्यक्ति के शहर में नदी ना हो तो किसी तालाब कुएं आदि में प्रवाहित किया जा सकता है। नारियल प्रवाहित करते समय इष्ट देव और शनि देव से बुरा प्रभाव समाप्त करने की प्रार्थना करें। इस उपाय के बाद स्वयं को सभी प्रकार के अधार्मिक कृत्यों से दूर रखें और एक कटोरी में तेल लेकर उसमें अपनी परछाई देखें और इस तेल को दान कर दें।

काला रंग उर्जा और ऊष्मा का अच्छा अवशोषक होता है। यह जब शरीर पर बंधा रहता है तो नेगेटिव एनर्जी को शरीर में आने से पहले ही अपनी तरह खीच लेता है। यह रक्षा कवच की तरह कार्य करता है।

From Around the web