ॐ का जाप करने से पहले जान लें ये 3 नियम , वरना जाप से नहीं मिलेगा कोई लाभ

मित्रों ॐ (ओम) शब्द का हिन्दू धर्म मे बहुत महत्व है । ओम के बिना कोई मंत्र पूरा नही होता। धर्म ग्रंथो के अनुसार यदि आप नियम के अनुसार विधिवत ओम का जाप करते है तो आप सर्वशक्तिमान हो जाएंगे। परंतु अज्ञानतावश लोग ओम के मंत्र बोलने में बहुत सी गलतियां करते है। जिस कारण
 
ॐ का जाप करने से पहले जान लें ये 3 नियम , वरना जाप से नहीं मिलेगा कोई लाभ

मित्रों ॐ (ओम) शब्द का हिन्दू धर्म मे बहुत महत्व है । ओम के बिना कोई मंत्र पूरा नही होता। धर्म ग्रंथो के अनुसार यदि आप नियम के अनुसार विधिवत ओम का जाप करते है तो आप सर्वशक्तिमान हो जाएंगे। परंतु अज्ञानतावश लोग ओम के मंत्र बोलने में बहुत सी गलतियां करते है। जिस कारण उन्हें इच्छानुसार फल नही मिल पाता । वैज्ञानिकों ने भी ये माना है कि ओम शब्द बोलने से तनाव से मुक्ति मिलती है और मन भी शांत होता है। तो चलिए हमारे साथ जानिए ओम के जाप का सही तरीका ।

ओम के जाप के लिए ऐसा स्थान का चुनाव करें जहां पूर्ण रूप से शांति हो। और प्रयास करें कि प्रकृति के करीब हो । क्योकि ऐसे स्थान पर देवों का वास होता है। अतः ऐसे स्थान पर देव जल्दी प्रसन्न होते है ।

ओम का जाप करने का सबसे शुभ समय ब्रम्ह मुहूर्त होता है । क्योंकि ब्रम्ह मुहूर्त के समय ईश्वरीय शक्ति सबसे अधिक प्रबल होती है। उस समय भगवान बहुत जल्दी प्रसन्न हो जाते है । सुबह समय का यदि अभाव हो तो आप रात्रि मे सोते समय भी जाप कर सकते है जिससे आपको अच्‍छा फल मिले।

ओम शब्‍द को कभी धीरे नहीं बोलना चाहिये नहीं तो इसका कोई लाभ नहीं मिलेगा। इस शब्‍द को आप जितना तेज ध्वनि में बोलेंगे यह उतना ही ज्‍यादा फलदाई होगा और मानसिक शांति भी प्रदान करेगा। इस शब्‍द को गहराई से उच्चारित करें ।

From Around the web