मप्रः एक साल में एक लाख युवाओं की होगी सरकारी भर्ती: सीएम शिवराज

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि हमारे नौजवान बेटे-बेटियों के लिए हम योजना बना रहे हैं। यदि वे काम-धंधा और अपना व्यापार करना चाहते हैं तो इसके लिए उन्हें एक लाख से 2 करोड़ रुपये तक के ऋण की सुविधा मिलेगी और सरकार ब्याज पर सब्सिडी भी देगी।

 
One lakh youth will be recruited in government jobs

भोपाल, 28 सितम्बर। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि हमारे नौजवान बेटे-बेटियों के लिए हम योजना बना रहे हैं। यदि वे काम-धंधा और अपना व्यापार करना चाहते हैं तो इसके लिए उन्हें एक लाख से 2 करोड़ रुपये तक के ऋण की सुविधा मिलेगी और सरकार ब्याज पर सब्सिडी भी देगी। आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों से आने वाले मेधावी बच्चों को मेडिकल, इंजीनियरिंग, आईआईएम जैसे संस्थानों में प्रवेश मिलेगा, तो उनकी फीस हमारी सरकार भरवायेगी। अगले एक साल में एक लाख सरकारी नौकरियों में युवाओं की भर्ती की जायेगी।

मुख्यमंत्री चौहान सोमवार को खरगौन जिले के भीकनगांव में जनदर्शन कार्यक्रम के अंतर्गत आयोजित आमसभा को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री किसान कल्याण निधि छोटे किसानों के लिए बहुत अहम है। मैं मुख्यमंत्री की कुर्सी का वजन बढ़ाने के लिए मुख्यमंत्री नहीं बना हूँ, गरीबों का जीवन बदलने के लिए मुख्यमंत्री बना हूँ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने किसानों को सम्मान निधि योजना में 6 हजार रुपया देना प्रारंभ किया, तो हमारी सरकार ने किसान कल्याण निधि के रूप में 4 हजार रुपया खाते में जमा करने का काम किया।

One lakh youth will be recruited in government jobs

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि प्रदेश के गरीबों को मुख्यमंत्री भू-अधिकार योजना के अंतर्गत पट्टा देकर रहने की जमीन का मालिक बनाया जायेगा। आयुष्मान योजना की राशि में 60 फीसदी केंद्र सरकार और 40 फीसदी राज्य सरकार देगी। इसमें प्रदेश के गरीबों और किसानों को 5 लाख रुपये तक प्राइवेट अस्पतालों में भी इलाज की सुविधा मिलेगी। मैंने संबल योजना पुन: शुरू कर दी है। आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों के किसी बच्चे का चयन बड़े संस्थानों में उच्च शिक्षा के लिए होगा, तो उसकी फीस उसके माता-पिता नहीं, मैं भरवाऊंगा।

उन्होंने कहा कि अगले एक साल में एक लाख सरकारी नौकरियों में युवाओं की भर्ती की जायेगी। मैं किसान, गरीब, नौजवान, बेटे-बेटियां, महिलाएँ, बुज़ुर्ग, इन सभी का जीवन बदलने के अभियान पर निकला हूँ! एक साल में हमारी स्वसहायता समूह की बहनों के खाते में 2,500 करोड़ रुपया आयेगा। हमारी बहनें आर्थिक रूप से सशक्त होंगी, तो प्रदेश भी समृद्ध होगा।

From Around the web