Travel Place: शांति और सकून चाहिए उत्तराखंड की इस जगह चले जाईये

Travel Place : गर्मी चरम पर है और ऐसे में घर के अंदर बंद रहते रहते कई बार मन इतना ऊब जाता है कि गर्मी की तपिश और बढ़ने लगती है। ऐसे में पहाड़ों की याद काफी आने लगती है। जी चाहता है कि पहाड़ों पर कुछ दिन गुजारा जाए। लेकिन ऐसा सोच कर कई
 
Travel Place: शांति और सकून चाहिए उत्तराखंड की इस जगह चले जाईये

Travel Place : गर्मी चरम पर है और ऐसे में घर के अंदर बंद रहते रहते कई बार मन इतना ऊब जाता है कि गर्मी की तपिश और बढ़ने लगती है। ऐसे में पहाड़ों की याद काफी आने लगती है। जी चाहता है कि पहाड़ों पर कुछ दिन गुजारा जाए। लेकिन ऐसा सोच कर कई बार इतने लोग पहाड़ों पर घूमने निकल पड़ते हैं कि पहाड़ों पर मेले या जाम सी स्थिति हो जाती है। ऐसे में दिल यहां भी जाने से बचने को करता है लेकिन आज हम आपको दो ऐसी जगहों के बारे में बता रहे हैं जो आमतौर पर टूरिस्ट डेस्टिनेशन होते हुए भी बहुत भीड़ भाड़ से दूर है। यहां आपको न केवल सूकुन और शांति मिलेगी बल्कि यहां प्राकृतिक मनोरम की अद्भुद अनुभव भी होगा। ये दोनों जगह उत्तराखंड में है लेकिन ये जगह बहुत पापुलर नहीं हैं। धनौल्टी और बिनसर ये दो जगहों पर आप जा कर तो देखें।

यहां ऐसे पहुंचें

Travel Place: शांति और सकून चाहिए उत्तराखंड की इस जगह चले जाईये

दिल्ली से धनौल्टी पहुंचने के लिए कई ऑप्शन्स हैं। ट्रेन से चाहे तो आप देहरादून जा सकते हैं। जनशताब्दी शाम पौने सात बजे चलती है जो रात पौने ग्यारह बजे तक पहुंचा देती है। इसके साथ ही चाहे तो आप बाई फ्लाइट भी देहरादून जा सकते हैं। इसके अलावा बस और टैक्सी के भी आप्शन्स हैं। बस से करीब 700 रुपये और टैक्सी से करीब तीन हजार रुपये लगेंगे। मेरठ – रुड़की- हरिद्वार होते हुए 259 किलोमीटर की दूरी पर देहरादून है। यहां से धनौल्टी के लिए कैब ली जा सकती है। दिल्ली से धनौल्टी के लिए सीधे भी कैब बुक की जा सकती है। इसके लिए करीब 4500 रुपये तक लगेंगे। धनौल्टी की ओर जैसे ही बढ़ेंगे तो रास्ते में देवदार के घने पेड़ और मनमोहक हरियाली आपका मन मोह लेंगे। पहाड़ों की एक अलग खुशबू आपके दिल दिमाग को एकदम रिफ्रेश कर देगा।

पहाड़ों की खूबसूरती दिल पर छा जाएगी

Travel Place: शांति और सकून चाहिए उत्तराखंड की इस जगह चले जाईये

यहां गढ़वाल मंडल विकास निगम (जीएमवीएन) का धनौल्टी हाइट्स के आलावा कई अन्य होटल्स भी यहां आसानी से सस्ते में मिल जाएंगे। पहाड़ों की खूबसूरत वादियों में बने ये होटल्स बेहतरीन नजारे भी दिखाते हैं। धनौल्टी में आप कई एडवेंचरस जर्नी कर सकते हैं। इसके आलवा यहां कई मंदिर हैं जो अति प्राचीन हैं और बहुत ही सुदंर वादियों के बीच हैं। यहां आप ट्रेकिंग का आनंद लेते हुए मंदिर जाएंगे।

ईको हट्स का आकर्षण खींचे का मन

Travel Place: शांति और सकून चाहिए उत्तराखंड की इस जगह चले जाईये

यहां का एक मुख्य आकर्षण ईको हट्स भी है। बांस से बने कॉटेज में सौर ऊर्जा से ही सारे उपकरण चलते हैं। हर कॉटेज के बाहर बरामदे में बांस की कुर्सियां हैं। सामने सुंदर फूलों की क्यारियां और हरे-भरे लॉन्स में ऊंचे-ऊंचे देवदार के पेड़ हैं। यहां बैठ कर ही आप प्रकृति का आनंद उठा लेंगे।

यहां आप जरूर जाएं

Travel Place: शांति और सकून चाहिए उत्तराखंड की इस जगह चले जाईये

सुरकंडा देवी के लिए आपको कुछ किलोमीटर पैदल चलना होगा। सड़क मार्ग से छह किलोमीटर दूर चलना होगा। यहां आप मनियारी और अन्य स्थानीय सुंदर कलात्मक वस्तुओं की खरीदारी कर सकते हैं। यहां तक पैदल आएं तो बहुत बढ़िया वरना बीस मिनट में ही गाड़ी से पहुंच सकते हैं। इसके आलावा यहां ईको पार्क है। यह करीब पंद्रह एकड़ में फैला हुआ है। यहां पर खेल-कूद व रोमांच के लिए बर्मा ब्रिज, फ्लाइंग फॉक्स आदि जैसे आकर्षण के साथ खुले स्थान, लंबे घुमावदार रास्ते, दोनों ओर सुंदर फूलों से सजी क्यारियों के साथ और मेडिटेशन स्पॉट्स भी हैं। फोटोग्राफी के शौकीन के लिए ये जगह बहुत आकर्षित करेगी। 200 मीटर की दूरी पर एक और ईको पार्क है, इसका भी आनंद आप ले सकते हैं। इसके अलावा कई अन्य मंदिर और मनोरम छटाएं आपको देखने को मिलेंगे।

बिनसर में मिलेगा खोया हुआ सुकून

Travel Place: शांति और सकून चाहिए उत्तराखंड की इस जगह चले जाईये

बिनसर कुमाऊ का सबसे खूबसूरत जगह है। यहां के अनछुआ प्राकृतिक वैभव और दूर तक फैली शांति और दूर तक फैले पहाड़ आपका सुकून लौटा कर लाएंगे। बिनसर भीड़-भाड़ से दूर और प्राकृतिक प्रेमियों के लिए किसी स्वर्ग से कम नहीं है। घने देवदार के जंगलों से निकलते हुए आपको बहुत ही अच्छा फील होगा। बिनसर से हिमालय की केदारनाथ, चौखंबा, त्रिशूल, नंदा देवी, नंदाकोट और पंचोली चोटियां नजर आएंगे।

बिनसर ट्रैकिंग के शौकीन लोगों के लिए है। अभयारण्य की सीमा में प्रवेश करते ही सैलानी स्वयं को घने जंगल के मध्य पाते हैं।बिनसर जीरो पॉइंट जरूर जाएं। जीरो पॉइंट यहां से पर्यटक केदारनाथ, शिवलिंग, त्रिशूल और नंददेवी के हिमालय की चोटियों को देखेंगे। दो किमी की ट्रेकिंग के बाद बिनसर जीरो पॉइंट पर पहुंचेगे जहां से आप पूरे कुमायूं को बखूबी निहार सकते हैं। इसके अलावा बिनसर महादेव मंदिर आपको बहुत आकर्षित करेगा।

ऐसे पहुंचे बिनसर

Travel Place: शांति और सकून चाहिए उत्तराखंड की इस जगह चले जाईये

पंतनगर हवाई अड्डा सबसे निकटतम हवाई अड्डा है जो बिंसर से लगभग 152 किमी की दूरी पर स्थित है। हवाई अड्डे से दिल्ली और अन्य प्रमुख शहरों में नियमित उड़ानें हैं। ट्रेन से भी बिन्सार के निकटतम रेलवे स्टेशन काठगोदाम रेलवे स्टेशन पर पहुंचा जा सकता है। यहां से बिनसर 120 किमी दूर है। काठगोदाम से कैब आपको दो हजार रुपये में बिनसर पहुंचा देगा। इसके आलवा आप हल्दवानी और नैनीताल से भी बिनसर पहुंच सकते है। बसें भी दिल्ली से चलती हैं तो आपको हल्दवानी या नैनीताल तक ले जाएंगी।

इन सवालों के जवाब देकर जीतें हजारों रुपये

और यह भी देखें: 1.26 लाख महीने की सेलरी पाइए-12th,Diploma,ग्रेजुएट्स जल्दी अप्लाइ करे

विडियो जोन : अक्सर प्यार में इंसान को ये 3 चीजें जरूर मिलती है, प्यार करने वाले यह विडियो जरूर देखें

Latest NEWS Notification मोबाइल में पाने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे सरकारी जॉब्स sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

From Around the web