पर्यटकों को श्रीनगर पौड़ी गढ़वाल के खूबसूरत नज़ारे देखने का मौका नहीं चूकना चाहिए

श्रीनगर पौड़ी गढ़वाल पर्यटकों को खूबसूरत नज़ारे देखने का मौका देता है। अगर आप प्रकृति के दीवाने है और हिमालय की खूबसूरती को खोजना चाहते है तो इस क्षेत्र में ज़रूर जाए। इस जगह में आपको हिमालय पर्वत के खूबसूरत नज़रों के साथ साथ खूबसूरत घाटी भी देखने को मिलेगी। जिन लोगों को रोमांच पसंद
 
पर्यटकों को श्रीनगर पौड़ी गढ़वाल के खूबसूरत नज़ारे देखने का मौका नहीं चूकना चाहिए

श्रीनगर पौड़ी गढ़वाल पर्यटकों को खूबसूरत नज़ारे देखने का मौका देता है। अगर आप प्रकृति के दीवाने है और हिमालय की खूबसूरती को खोजना चाहते है तो इस क्षेत्र में ज़रूर जाए।

पर्यटकों को श्रीनगर पौड़ी गढ़वाल के खूबसूरत नज़ारे देखने का मौका नहीं चूकना चाहिए

इस जगह में आपको हिमालय पर्वत के खूबसूरत नज़रों के साथ साथ खूबसूरत घाटी भी देखने को मिलेगी। जिन लोगों को रोमांच पसंद हैं, उन्हें यहाँ पर ट्रैकिंग और राफ्टिंग करने का मौका मिल जायेगा।

SBI बैंक में निकली 10th-12th के लिए क्लर्क भर्ती- लास्ट डेट : 26 जनवरी 2020

RSMSSB Patwari Recruitment 2020 : 4207 पदों पर भर्तियाँ- अभी आवेदन करें

AIIMS भोपाल में निकली नॉन फैकेल्टी ग्रुप A के लिए भर्तियाँ – अभी देखें 

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन

कमलेश्वर मंदिर

पर्यटकों को श्रीनगर पौड़ी गढ़वाल के खूबसूरत नज़ारे देखने का मौका नहीं चूकना चाहिए

यह श्रीनगर का सर्वाधिक पूजित मंदिर है। कहा जाता है कि जब देवता असुरों से युद्ध में परास्त होने लगे तो भगवान विष्णु ने सुदर्शन चक्र प्राप्त करने के लिये भगवान शिव की आराधना की। उन्होंने उन्हें 1,000 कमल फूल अर्पित किये तथा प्रत्येक अर्पित फूल के साथ भगवान शिव के 1,000 नामों का ध्यान किया।

उनकी जांच के लिये भगवान शिव ने एक फूल को छिपा दिया। भगवान विष्णु ने जब जाना कि एक फूल कम हो गया तो उसके बदले उन्होंने अपनी एक आंख (आंख को भी कमल कहा जाता है) चढ़ाने का निश्चय किया। उनकी भक्ति से प्रसन्न होकर भगवान शिव ने उन्हें सुदर्शन चक्र प्रदान कर दिया, जिससे उन्होंने असुरों का विनाश किया।

पर्यटकों को श्रीनगर पौड़ी गढ़वाल के खूबसूरत नज़ारे देखने का मौका नहीं चूकना चाहिए

धारा देवी मंदिर

धारा देवी मंदिर रुद्रप्रयाग सड़क पर स्थित है, जो श्रीनगर से 17 किलोमीटर दूर है। इस मंदिर में कई श्रद्धालु आते है और देवी धरी की पूजा करते है।

शंकर मठ

इस मंदिर को आदि गुरु शंकराचार्य ने बनाया था। यह मंदिर श्रीनगर से 2 किलोमीटर दूरी पर स्थित है। यह मंदिर भगवान् विष्णु को समर्पित है।

देवलगढ़

देवलगढ़ श्रीनगर से 20 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। इधर घूमने वाली जगहों में राजेश्वरी मंदिर, गौरी देवी मंदिर और लक्समी नारायण मंदिर शामिल है।

चोपड़ा मंदिर

कोटेश्वर बांध के पास स्थित यह मंदिर चोपड़ा नरसिंघ और भैरो नाथ को समर्पित है।

पर्यटकों को श्रीनगर पौड़ी गढ़वाल के खूबसूरत नज़ारे देखने का मौका नहीं चूकना चाहिए

गर्मियां:

श्रीनगर गर्मियों के मौसम में काफी गर्म हो जाता है और अप्रैल से जून के बीच यहाँ पर काफी गर्मी होती है। हालाँकि फिर भी यहाँ पर पर्यटक आते है क्यूंकि यह जगह दूसरी ऊँची और ठंडी पहाड़ियों पर जाने के रास्ते में पड़ता है। गर्मियों में यहाँ का तापमान 35 डिग्री से 45 डिग्री के बीच रहता है।

मानसून

श्रीनगर में अगस्त और सितम्बर के महीने में काफी बारिश होती है, जिस कारण यहाँ की सड़के काफी फिसलन वाली हो जाती है।

सर्दी

नवंबर से मार्च तक श्रीनगर बर्फ की खूबसूरत चादर से ढक जाता है। सर्दियों में यहाँ का तापमान २ डिग्री से ० डिग्री तक चला जाता है।

From Around the web