अगर आपकी उम्र 40 के पार है तो आपको हरी सब्जियों का सेवन क्यों फायदा पहुंचाता है जाने

भोजन करने से पहले टमाटर और अन्य सब्जियों का सूप पीने से शारीरिक तथा मानसिक स्वास्थ्य अच्छा रहता हैं। शरीर की रोगों से लड़ने की क्षमता और शक्ति को बढ़ाने के लिए पालक, चैलाई, कुलथी, टमाटर, सीताफल, बथुआ, मेथी, करमकल्ला या बंदगोभी, लौकी, परवल, चुकंदर, तोरई, टिंडा, मूली, आवंला आदि का उपयोग अत्यन्त लाभकारी सिद्ध
 
अगर आपकी उम्र 40 के पार है तो आपको हरी सब्जियों का सेवन क्यों फायदा पहुंचाता है जाने

भोजन करने से पहले टमाटर और अन्य सब्जियों का सूप पीने से शारीरिक तथा मानसिक स्वास्थ्य अच्छा रहता हैं। शरीर की रोगों से लड़ने की क्षमता और शक्ति को बढ़ाने के लिए पालक, चैलाई, कुलथी, टमाटर, सीताफल, बथुआ, मेथी, करमकल्ला या बंदगोभी, लौकी, परवल, चुकंदर, तोरई, टिंडा, मूली, आवंला आदि का उपयोग अत्यन्त लाभकारी सिद्ध होता हैं।
भोजन में जो आटा रोटियां आदि बनाने के लिए उपयोग किया जाता है, उसमें से चोकर नहीं निकालना चाहिए। इससे उसमें निहित शक्ति कम हो जाती है। इसी प्रकार चावल में से उसका माड़ निकालने से उनमें शक्ति नहीं रहती। मैदे से बनी रोटियों, पूरियों आदि का अधिक उपयोग करने से पाचन संबंधी रोग हो जाते हैं। भोजन को भाप से पकाना चाहिए। इससे उसके शक्तिवर्धक तत्व नष्ट नहीं होते।
भोजन में दालों के साथ प्याज, एक हरी धनिया, पुदीना, कच्चा लहसुन, टमाटर, सलाद तथा हरी पत्तेदार मौसमी सब्जियों का उपयोग करते रहने से स्वास्थ्य अच्छा रहता है। हरे पत्ते पाली सब्जियों में लौह तत्व विशेष रूप से पाया जाता हैं, जो शरीर के रक्तकणों की वृद्धि के लिए आवश्यक हैं। इन सब्जियों को नमकीन गरम पानी से भली प्रकार धोकर कच्चा खाने से बहुत लाभ होता हैं।
स्वास्थ्य सदैव अच्छा रखने के लिए रोटियां कल खांए लेकिन दाल, सब्जियों और फलों का सेवन अधिक करें। बिना चोकर निकले आटे और पाॅलिश किए चावलों का उपयोग करें।

From Around the web