फटे हुए बनियान और जांघिया भूलकर भी न पहने होता है यह गलत असर

जैसा की आप सभी जानते है की आजकल हम जो कपडे पहनते है उसीसे हमारी शान और व्यक्तित्व दर्शाता हैं. कपडे न सिर्फ शरीर ढकने का काम करता है बल्कि उस व्यक्ति का आर्थिक स्तर भी दिखाता हैं. लेकिन हम निजी वस्त्रों पर ज्यादा ध्यान नहीं देते हैं. अंदर पहनने वाले कपडे फटे हुए हो
 
फटे हुए बनियान और जांघिया भूलकर भी न पहने होता है यह गलत असर

जैसा की आप सभी जानते है की आजकल हम जो कपडे पहनते है उसीसे हमारी शान और व्यक्तित्व दर्शाता हैं. कपडे न सिर्फ शरीर ढकने का काम करता है बल्कि उस व्यक्ति का आर्थिक स्तर भी दिखाता हैं. लेकिन हम निजी वस्त्रों पर ज्यादा ध्यान नहीं देते हैं. अंदर पहनने वाले कपडे फटे हुए हो तो उसका असर हमारे जीवन पर बुरा असर पड़ सकता हैं.

सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन

1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 

हम अक्सर अंदरूनी कपड़े फटे हुए होने पर भी वैसे ही पहनते है, क्योंकि यह लोगों को नहीं नहीं दीखता हैं. फटे हुए जांघिया या महिलाओं की पैंटी या ब्लॉउज पहनने से मन हमेशा चंचल बना रहता हैं. ऐसे कपड़ों पर शनि का प्रभाव होता हैं. इससे भाग्य पर असर पड़ता हैं.

फटे हुए बनियान और जांघिया भूलकर भी न पहने होता है यह गलत असरस्त्री का ब्लॉउज फटा होना पति से मनमुटाव, गृह क्लेश, ऋण लेने की नौबत, और स्वास्थ पर बुरा असर पड़ सकता हैं. जांघिया फटे होने से पुरुष की भावना भी भटकने लगता हैं, जिससे परस्त्री का गमन भी कर सकता हैं. ध्यान रखे की महिलाओं को और पुरुषों को सोते समय अंदर के कपडे नहीं पहनना अच्छा होता हैं.

From Around the web