सुखी रहना है तो दूसरों को इस प्रकार वश, में करना सीखों- आचार्य चाणक्य

आचार्य चाणक्य कहते है कि इस संसार में हर समस्या का समाधान है। ऐसी कोई समस्या नहीं है जिसे मनुष्य हल ना कर सके। आचार्य चाणक्य ने हर प्रकार के लोगों को वश में करने का उपाय बताया है।आचार्य चाणक्य कहते है कि लोभी मनुष्य अपने स्वार्थ में इतना अंधा होता है कि वह धन
 
सुखी रहना है तो दूसरों को इस प्रकार वश, में करना सीखों- आचार्य चाणक्य

आचार्य चाणक्य कहते है कि इस संसार में हर समस्या का समाधान है। ऐसी कोई समस्या नहीं है जिसे मनुष्य हल ना कर सके। आचार्य चाणक्य ने हर प्रकार के लोगों को वश में करने का उपाय बताया है।आचार्य चाणक्य कहते है कि लोभी मनुष्य अपने स्वार्थ में इतना अंधा होता है कि वह धन प्राप्ति के बिना संतुष्ट नहीं होता इसलिए लोभी मनुष्य को धन देकर वश में किया जा सकता है।

अगर मनुष्य अभिमानी और खुद से ज्यादा शक्तिशाली है तो उसे हाथ जोडकर वश में किया जा सकता है। मूर्ख मनुष्य को उसकी इच्छा के अनुसार कार्य करने का नाटक कर वश में किया जा सकता है। विद्वान् एवं धार्मिक मनुष्य को सच्ची बात बताकर वश में किया जा सकता है।आचार्य चाणक्य का कहना है कि सामने वाला मनुष्य किस प्रकार का है

यह देखते हुए उसे अपने अनुरूप बनाने का प्रयास करना चाहिए। जो मनुष्य सही समय पर इसी नीति का प्रयोग करता है वह अपने जीवन में सदा सुखी रहता है।वर्तमान के समय में व्यक्ति चाहे अमीर हो या ग़रीब लेकिन उसके चेहरे पर एक अजीब सा डर छाया रहता है हम नहीं जानते कि आपकी परिस्थिति कैसी है? परंतु इस लेख को पढ़ने के बाद आपके विचारों में अदभुत परिवर्तन होने वाला है जो आपको जीवन भर काम आने वाला है। जब इंसान का समय ख़राब चल रहा होता है

तब उसके अपने भी उसका साथ नहीं देते क्योंकि दुनिया में चंद लोगों ही ऐसे होंगे जो आपका भला सोचते है।वैसे देखा जाए तो दुनिया का सबसे बड़ा दुःख ग़रीबी नहीं बल्कि बहुत से ऐसे दुःख भी मौजूद है जो धनवान होने के बावज़ूद इंसान को खोखला करते जा रहे है मित्रों, इस बात को करीब से प्रकट करते हुए चाणक्य ने कुछ गुप्त नीतियों को प्रकट किया है जो इस प्रकार है।

From Around the web