कम सोने वाले के लिए है यह बात बहुत जरुरी जानकर हैरान हो जाओगे

सोने हमारे जीवनशैली का एक अहम् हिस्सा है, यह हमारे लिए उतना ही जरूरी है जितना ज़िंदा रहने के लिए हवा, पानी, और खाना! यदि हम प्रपुर नींद ना लें (6 घंटे से कम समय तक सो रहे हैं) तो हमारा मानसिक संतुलन तो बिगड़ेगा ही, साथ ही साथ हमारे शरीर बीमारियों से लड़ने की
 
कम सोने वाले के लिए है यह बात बहुत जरुरी जानकर हैरान हो जाओगे

सोने हमारे जीवनशैली का एक अहम् हिस्सा है, यह हमारे लिए उतना ही जरूरी है जितना ज़िंदा रहने के लिए हवा, पानी, और खाना! यदि हम प्रपुर नींद ना लें (6 घंटे से कम समय तक सो रहे हैं) तो हमारा मानसिक संतुलन तो बिगड़ेगा ही, साथ ही साथ हमारे शरीर बीमारियों से लड़ने की क्षमता को भी खोया जाएगा! कई अध्ययन बताते हैं कि हमें 24 घंटे में कम से कम 8 घंटे की नींद चाहिए!

सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन

1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 

कम सोने वाले के लिए है यह बात बहुत जरुरी जानकर हैरान हो जाओगे

कम सोने के नुक्सान

1965 में एक 17 साल के लड़के रेंडी गार्नर ने 11 दिन तक ना सोने का रिकॉर्ड बनाया ! जब उसने जागना शुरू किया तो जागने के दूसरे दिन ही उसकी आंखे फोकस नहीं कर पा रहीं थीं और वो चीजों को भी ठीक से नहीं पहचान पा रहा था ! तीसरे दिन उसका शरीर दिमाग के साथ कोऑर्डिनेट नहीं कर रहा था मतलब वो जो कुछ करना चाह रहा था वो नहीं कर पा रहा था ! और अपने एक्सपेरिमेंट के ग्यारहवें दिन वो किसी भी चीज पर कॉन्सेंट्रेट नहीं कर पा रहा था और उसकी शॉर्ट टर्म मेमोरी काम नहीं कर पा रही थी जिसकी वजह से वो पागलों की तरह व्यव्हार करने लगा और हल्लुसिनेशन्स को अनुभव करने लगा !

प्रॉपर नींद ना लेने की वजह से हमारी बॉडी को बहुत नुक्सान होता हैं जैसे कि हमारे सोचने समझने कि क्षमता कम हो जाती है जिसकी वजह से कुछ भी याद रख पाना मुश्किल होता हैं ! बॉडी में नए सेल बनाने की दर कम हो जाती हैं जिसकी वजह से बीमारियों के बढ़ने का खतरा बढ़ जाता हैं और आखिरकार ना सोने की वजह से मौत भी हो जाती हैं !

वैज्ञानिक अध्ययनकम सोने वाले के लिए है यह बात बहुत जरुरी जानकर हैरान हो जाओगे

एक एक्सपेरिमेंट में चूहों को कुछ दिन तक जगाये रखा गया जिसकी वजह से वो चूहे दो से चार हफ़्तों में ही मर गए !ऐसी बात नहीं हैं की हम दो हफ़्तों तक जागते रहें और जिन्दा भी रहें ना ना ना ! 2014 में फुटबॉल वर्ल्डकप के दौरान एक फुटबॉल प्रेमी फैन 48 घंटो तक नहीं सोया था जिसकी वजह से उसकी मौत हो गयी !

महत्वपूर्ण जानकारी

भले ही हम हर रोज सोयें लेकिन अगर प्रॉपर नींद ना लें तो मानसिक संतुलन बिगड़ने का खतरा बना ही रहता हैं ! इसलिए कई अध्ययन बताती हैँ कि हमें हर रोज 6 से 8 घंटे कि नींद लेनी चाहिए और अपनी बॉडी को रीफ्रेश और रिपेयर होने के लिए वक्त देना चाहिए !

From Around the web