अनानास के इतने सारे फायदे है सुनकर हैरान हो जाओगे 

अनानास कई औषधीय गुणो से संपूर्ण होता है. अनानास का सेवन एक फल नहीं बल्की एक औषध समझकर करना चाहीये. अनानास में इतने सारे पोषक तत्वो का भंडार होता है. एंटीऑक्सीडेंट, विटामिन ए, विटामिन सी, कैल्शियम, फास्फोरस, फायबर, मैगनीज, फोलेट, पोटेशियम, थायमिन इतने सारे पोषक तत्वो का भंडार होता है अनानास में. तुकडो पर सेधानमक
 
अनानास के इतने सारे फायदे है सुनकर हैरान हो जाओगे 

अनानास कई औषधीय गुणो से संपूर्ण होता है. अनानास का सेवन एक फल नहीं बल्की एक औषध समझकर करना चाहीये. अनानास में इतने सारे पोषक तत्वो का भंडार होता है. एंटीऑक्सीडेंट, विटामिन ए, विटामिन सी, कैल्शियम, फास्फोरस, फायबर, मैगनीज, फोलेट, पोटेशियम, थायमिन इतने सारे पोषक तत्वो का भंडार होता है अनानास में.

तुकडो पर सेधानमक और कालीमिर्च लगाकर खाने से अजीर्ण दूर होने में मदत करता है. अनानास का 100 मि.ली लीटर रस और अंगूर का 1-3 पीस अनानास के रस में डालकर उस में थोडा सा सेधानमक और कालीमिर्च डालकर पिने से अजीर्ण दूर होने में मदत होता है. अनानास, खजूर के तुकडे बनाकर उसे घी, शहद में मिलाकर कांच के बरतन में भरकर रखे और इसे रोजाना 6-12 ग्राम खाने से बहुमूत्र जैसी बीमारी पल भर में ठीक होती है.

अनानास फल के रस में आंवला, छोटी कटेरी और जीरा का समान मात्रा में चूर्ण मिलाकर शहद के साथ सेवन करणे से श्वास लेने में तफलिक नहीं होती. अदा कप अनानास का रस, अदा कप अदरक का रस मिलाकर पिने से आतो से अम्लता निष्कासत नहीं होगा.

अनानासं के कच्चे फल का 10-12 मि.ली लीटर रस निकालकर उस में पीपल की छाल का चूर्ण और गुड मिलाकर उस रस पिने से मासिक धर्म की रुकावत दूर होती है. अनानास के पत्तो का रोजाना एक ग्लास रस पिने से मासिक धर्म की रुकावत दूर होती है. अनानासं के कच्चे फल का एक ग्लास ज्यूस पिने से कब्ज में राहत मिलती है.

अनानासं मधुमेह में भी फायदेमंद है. अनानासं के रस में आंवला, गोखरू, तिल, बहेडा, हरड, जामून के बिजो का चूर्ण मिलाकर उस के सुखणे के बाद पाउडर बनाकर रखे और उस पाउडर को खाने से मधुमेह जैसी बिमारी ठीक होने में मदत करती है.

From Around the web