क्यों फायदेमंद है आंवले और नारियल का सेवन, 90 प्रतिशत लोग नहीं जानते

आंवला एक प्राकृतिक रूप से पाया जाने वाला औषधीय भोजन है जो मनुष्यों को आसानी से उपलब्ध होता है। कई समस्याओं को ठीक करने के लिए आयुर्वेदिक औषधि में यह आंवला दिया जाता है। इसलिए अगर आप बिना किसी स्वास्थ्य समस्या के स्वस्थ रहना चाहते हैं, तो सुबह उठने पर एक चम्मच आंवले का रस
 
क्यों फायदेमंद है आंवले और नारियल का सेवन, 90 प्रतिशत लोग नहीं जानते

आंवला एक प्राकृतिक रूप से पाया जाने वाला औषधीय भोजन है जो मनुष्यों को आसानी से उपलब्ध होता है। कई समस्याओं को ठीक करने के लिए आयुर्वेदिक औषधि में यह आंवला दिया जाता है।

इसलिए अगर आप बिना किसी स्वास्थ्य समस्या के स्वस्थ रहना चाहते हैं,

तो सुबह उठने पर एक चम्मच आंवले का रस पिएं।

यह उन कई समस्याओं को रोकेगा जो आज की पीढ़ी को परेशान कर रही हैं। खैर, अब देखते हैं कि खाली पेट पर आंवले का रस पीने से क्या फायदे होते हैं। गोभी शरीर में प्रोटीन की मात्रा बढ़ाती है, वसा कम करती है और मोटापे को रोकती है। इसलिए अगर आपका वजन कम करने का इरादा है, तो रोजाना सुबह खाली पेट एक आंवले का रस पियें।

अस्थि अवशोषक एक प्रकार की कोशिकाएँ हैं। पत्ता हड्डियों को आसानी से तोड़ देता है। लेकिन अगर आप रोजाना आंवले का जूस पीते हैं, तो इन कोशिकाओं का आकार कम हो जाएगा और हड्डियों का स्वास्थ्य बेहतर हो जाएगा।

आंवले में एंटी-ऑक्सीडेंट की मात्रा अधिक होती है। इसमें मुख्य रूप से सुपरऑक्साइड डिसम्यूटेज (SOD) होता है। यह हमें मुक्त कणों से बचाएगा और कैंसर से बचाएगा। इसलिए अगर आप कैंसर को रोकना चाहते हैं, तो आंवले का जूस पिएं।

आंवले में विटामिन सी अधिक मात्रा में होता है। इससे शरीर ठंडा रहेगा। गर्मियों में खासतौर पर आंवले का जूस पीने से शरीर की गर्मी कम होती है। आंवले के रस को शहद और थोड़ी सी हल्दी के साथ मिलाकर सेवन करने से मधुमेह को नियंत्रित करने में मदद मिलती है।

नारियल दुनिया में केवल उष्णकटिबंधीय देशों में उगाई जाने वाली नकदी फसल है। दुनिया के विभिन्न हिस्सों में रहने वाले लोग अपने दैनिक भोजन की तैयारी और चिकित्सा उपचार में बड़े पैमाने पर किशोर और नारियल का उपयोग करते हैं। यहां आप यह जान सकते हैं कि नारियल खाने के चिकित्सीय लाभ क्या हैं जो पोषक तत्वों से भरपूर एक प्राकृतिक भोजन है।

सूक्ष्मजीव हर दिन हमारे द्वारा खाए जाने वाले खाद्य पदार्थों से बाहरी वातावरण में मौजूद होते हैं। ये कई बार हमें संक्रमित कर सकते हैं और स्वास्थ्य समस्याओं का कारण बन सकते हैं। नारियल स्वभाव से एक बेहतरीन कीटाणुनाशक है। नारियल में मोनोलर में केवल लौरिक एसिड हमारे रक्त के साथ मिलकर बनता है, प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करता है, पूरे शरीर में फैलने वाले कीटाणुओं को नष्ट करता है, शरीर की सफाई करता है और कीटाणुओं को संक्रमित होने से बचाता है।

नारियल कैल्शियम और फास्फोरस में भी समृद्ध है। रोज सुबह ताजे हरे नारियल की थोड़ी मात्रा चबाने से शरीर को कैल्शियम और फॉस्फोरस मिलता है और हड्डियों और दांतों को मजबूती मिलती है। नारियल में रसायन भी हड्डियों को मजबूत करते हैं और भविष्य में ऑस्टियोपोरोसिस को रोकते हैं। इससे दांतों में चमक भी आती है।

नारियल हमारी त्वचा पर झुर्रियों को रोकने और मुँहासे और त्वचा की खुजली की समस्याओं को कम करने के लिए एक उत्कृष्ट प्राकृतिक चिकित्सा भोजन है। जो लोग रोजाना थोड़ा नारियल चबाते हैं, उनके लिए नारियल में वसा और तेल की मात्रा रक्त के साथ मिलकर त्वचा की चमक बढ़ाती है।

झुर्रियों को हटाता है और एक युवा रूप देता है। यह चेहरे पर मुँहासे को भी रोकता है और त्वचा की खुजली जैसे कीटाणुओं के कारण संक्रमण का इलाज करता है।

From Around the web