इन 5 रोगों की सबसे बड़ी दुश्मन है ये गुठली, बाद में मत कहना बताया नहीं

कई रोगों को जड़ से खत्म कर देती है । ये गुठली कोई और नहीं बल्कि जामुन की गुठली है । आपको जानकर हैरानी होगी कि जितने फायदे जामुन के हैं उतने ही इसकी गुठली के भी होते हैं। जामुन की गुठली मधुमेह के उपचार के लिए बहुत ही फायदेमंद होती है। इसे आयुर्वेद में
 
इन 5 रोगों की सबसे बड़ी दुश्मन है ये गुठली, बाद में मत कहना बताया नहीं

कई रोगों को जड़ से खत्म कर देती है । ये गुठली कोई और नहीं बल्कि जामुन की गुठली है । आपको जानकर हैरानी होगी कि जितने फायदे जामुन के हैं उतने ही इसकी गुठली के भी होते हैं। जामुन की गुठली मधुमेह के उपचार के लिए बहुत ही फायदेमंद होती है। इसे आयुर्वेद में दवा के रूप में उपयोग किया जाता है। जामुन की गुठली हमारे शरीर से हानिकारक रसायनों को बाहर करने में मदद करती है। इसलिए अब जब भी आप जामुन खाएं तो इसके बीजों को न फेकें यह आपके लिए बहुत ही उपयोगी हो सकते हैं। आइए जाने जामुन की गुठली के फायदों के बारे में –

इन 5 रोगों की सबसे बड़ी दुश्मन है ये गुठली, बाद में मत कहना बताया नहीं

  1. जामुन की गुठली के चूर्ण 1-2 ग्राम पानी के साथ सुबह फांकने से मधुमेह रोग ठीक हो जाता है।

  2. नए जूते पहनने पर पांव में छाला या घाव हो जाए तो इस पर जामुन की गुठली घिसकर लगाने से घाव ठीक हो जाता है।

  3. जामुन की गुठली के चूर्ण को एक चम्मच मात्रा में दिन में दो-तीन बार लेने पर पेचिश में आराम मिलता है।

  4. पथरी हो जाने पर इसके चूर्ण का उपयोग दही के साथ करें। इससे पेट मे पथरी की समस्या दूर होगी।

  5. रक्तप्रदर की समस्या होने पर जामुन की गुठली के चूर्ण में पच्चीस प्रतिशत पीपल की छाल का चूर्ण मिलाएं और दिन में दो से तीन बार एक चम्मच की मात्रा में ठंडे पानी से लें।

From Around the web