अस्थमा और कई बीमारियों की दवा है ये गुणकारी पौधा जाने इसके फायदे

कटेरी एक प्रकार का पौधा होता है। जो जमीन में फैला होता है कटेरी के पौधे हरे रंग के और फूल बैगनी रंग के होते हैं। इस पौधे के इतने गुण होते हैं जिसे जानकर आप हैरान हो जाएंगे। कटेरी एक ऐसा पौधा है जो हमारे स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद होता है। यह अस्थमा,
 
अस्थमा और कई बीमारियों की दवा है ये गुणकारी पौधा जाने इसके फायदे

कटेरी एक प्रकार का पौधा होता है। जो जमीन में फैला होता है कटेरी के पौधे हरे रंग के और फूल बैगनी रंग के होते हैं। इस पौधे के इतने गुण होते हैं जिसे जानकर आप हैरान हो जाएंगे। कटेरी एक ऐसा पौधा है जो हमारे स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद होता है। यह अस्थमा, अपच, बवासीर,

कान की सूजन और पेशाब में जलन के लिए काफी फायदेमंद होता है।

अस्थमा और कई बीमारियों की दवा है ये गुणकारी पौधा जाने इसके फायदे

  1. 20-50 मिली कटेरी पत्ते के रस में थोड़ा शहद मिलाकर सिर में चंपी करने से इन्द्रलुप्त (गंजापन) में लाभ होता है। अस्थमा और कई बीमारीयो की दवा है। अस्थमा और कई बीमारियों की दवा है ये गुणकारी पौधा जाने इसके फायदे

  2. कटेरी के 20-30 ग्राम पत्तों को पीसकर उनकी लुगदी बनाकर आंखों पर बांधने से (आंखों का दर्द ) दर्द कम होता है।अस्थमा और कई बीमारियों की दवा है ये गुणकारी पौधा जाने इसके फायदे

  3. अगर दांत बहुत दुखती हो तो कटेरी के बीजों का धुआं लेने से तुरन्त आराम मिलता है।

कटेरी की जड़, छाल, पत्ते।

फल लेकर उनका काढ़ा बनाकर कुल्ला करने से भी दांतों का दर्द दूर होता है।

अस्थमा और कई बीमारियों की दवा है ये गुणकारी पौधा जाने इसके फायदे4 मिरगी भी एक गंभीर स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍या होती है।

लेकिन कटेरी के फायदे मिरगी का इलाज करने में प्रभावी होते हैं।

इसके लिए आप ताजे भटकटैया के पत्‍तों का रस निकालें।

इस रस 2 बूंद मात्रा को नियमित रूप से सुबह के समय अपने नथुनों में डालें।

ऐसा करने से रोगी को मिरगी के दौरे आने की संभावना कम हो जाती है।अस्थमा और कई बीमारियों की दवा है ये गुणकारी पौधा जाने इसके फायदे

  1. दाद एक प्रकार के जटिल समस्या है।

इसमें लापरवाही नहीं करनी चहिए क्योंकि यह फैलती जाती है।

दाद में कटेरी के फलों के रस में सरसों का तेल बराबरा मात्रा में मिलाकर लेप करने से दाद शीघ्र नष्ट हो जाती है।

From Around the web