ये 5 लक्षण बताते हैं कि आप जरूरत भर का पानी, नहीं पीते

तेज़ रफ़्तार ज़िंदगी, ढेरों ज़िम्मेदारियां और व्यस्तता का आलम फिर भी कोमल त्वचा, फुर्तीला बदन और शांत मन किसे पसंद नहीं? तो क्यों न इसके लिए कुछ करें। बिलकुल आसान उपाय और जिसके ढेरों फायदे हैं वो है पानी यानि जल, इसलिए कहते हैं जल ही जीवन है। हमारा 50 से 70 प्रतिशत वज़न पानी
 
ये 5 लक्षण बताते हैं कि आप जरूरत भर का पानी, नहीं पीते

तेज़ रफ़्तार ज़िंदगी, ढेरों ज़िम्मेदारियां और व्यस्तता का आलम फिर भी कोमल त्वचा, फुर्तीला बदन और शांत मन किसे पसंद नहीं? तो क्यों न इसके लिए कुछ करें। बिलकुल आसान उपाय और जिसके ढेरों फायदे हैं वो है पानी यानि जल, इसलिए कहते हैं जल ही जीवन है। हमारा 50 से 70 प्रतिशत वज़न पानी के चलते ही है। इसका महत्व कई शारीरिक कार्यों के लिए है और कुदरती तौर पर बने इस अनुपात को अच्छे स्वास्थ्य की दृष्टि से बनाए रखना ज़रूरी है। आइये जानते हैं ऐसे मुख्य 5 लक्षण जो की ये बतातें हैं कि आप जरूरत भर का पानी नहीं पीते हैं।अगर आपको यूरिन कम आता है या यूरिन का रंग गहरा पीला होता है तो इसका मतलब यह है कि शरीर में पानी की कमी है। दिन में 6 से 7 बार यूरिन जाना चाहिए। अगर ऐसा नहीं है तो पानी ज्यादा से ज्यादा पियें।कई लोगों का मुंह बार-बार सूखता है और मुँह से बदबू आती है दरअसल यह संकेत शरीर में पानी की कमी का नतीजा है।

इसलिए खुद को हमेशा हाइड्रेटेड रखें।भूख को प्यास के साथ कभी मिक्स ना करें। अगर आपको खाना खाकर भी भूख लगता है तो ये आप के शरीर में पानी की कमी को दर्शाता है। ऐसे में पहले 1 गिलास पानी पियें और फिर खाना खाएं।ऐसा करने से शरीर डिहाईड्रेट नहीं होगा।अगर आप पानी कम पीतें हैं तो इसका प्रभाव आप के दिल पर भी पड़ता हैं। निर्जलीकरण के कारण प्लाज्मा की मात्रा में कमी आ जाती है जिससे रक्त परिसंचरण प्रभावित होता है और आपके दिल की दर बढ़ जाती है।शरीर में पानी की कमी होने से मांसपेशियों में दर्द या ऐंठन, घुटनों में दर्द, जोड़ों में दर्द और जोड़ों में सूजन की समस्‍या हो जाती है। विशेषज्ञों की मानें तो हर व्‍यक्ति को पानी की भरपूर मात्रा में पानी पीना चाहिए।

From Around the web