एच आई वी (HIV) और एड्स (AIDS) के कारण और लक्षण जो आपको जरूर पता होने चाहिए

एच आई वी (HIV) एक मनुष्य से दूसरे मनुष्य के शरीर में खून या फिर शारीरिक सम्बंद के जरिये प्रवेश होता है। एच आई वी एक पूर्वव्यापी वायरस है जो इंसान के ज़रूरी अंग और उसके प्रतिरक्षी तंत्र के सेल को ख़राब कर देता है। यह वायरस एंटी रेट्रोवायरल थेरेपी की नामौजूदगी में फैलता है।
 
एच आई वी (HIV) और एड्स (AIDS) के कारण और लक्षण जो आपको जरूर पता होने चाहिए

एच आई वी (HIV) एक मनुष्य से दूसरे मनुष्य के शरीर में खून या फिर शारीरिक सम्बंद के जरिये प्रवेश होता है। एच आई वी एक पूर्वव्यापी वायरस है जो इंसान के ज़रूरी अंग और उसके प्रतिरक्षी तंत्र के सेल को ख़राब कर देता है।

यह वायरस एंटी रेट्रोवायरल थेरेपी की नामौजूदगी में फैलता है। एंटी रेट्रोवायरल थेरेपी एक थेरेपी है जो नए वायरस की बढ़त को काम या फिर बढ़ने से रोकता है। इस वायरस का बढ़ना हर मनुष्य के शरीर और कई दूसरे फैक्टर पर निर्भर करता है। यह फैक्टर मरीज़ की उम्र, उसके शरीर की एच आई वी के प्रति लड़ने की क्षमता, उसके स्वास्थ्य की देखरेख और शरीर में मौजूद दूसरे इन्फेक्शन होते है।

एच आई वी कैसे संक्रामित होता है?

एच आई वी (HIV) और एड्स (AIDS) के कारण और लक्षण जो आपको जरूर पता होने चाहिए
Source

शारीरिक सम्बन्ध

अगर पीड़ित इंसान किसी दूसरे इंसान से यौन सम्बन्ध बनाता है तो दूसरे इंसान में भी एच आई वी वायरस पैदा हो जाता है। एच आई वी से दूषित टॉयज खिलौनों से भी एच आई वी फैलता है।

नवजात संचार

एच आई वी (HIV) और एड्स (AIDS) के कारण और लक्षण जो आपको जरूर पता होने चाहिए
Source

एक माँ के जरिये बच्चे में उसके जन्म के समय या फिर गर्भ धारण के समय एच आई वी वायरस पास होता है।

खून संचार

एच आई वी (HIV) और एड्स (AIDS) के कारण और लक्षण जो आपको जरूर पता होने चाहिए
Source

आजकल एच आई वी वायरस से दूषित खून चढ़ाने का रिस्क काम है क्यूंकि इंजेक्शन की सुई को इस्तेमाल किये जाने पर फेंक दिया जाता है ताकि वह किसी और के शरीर में दुबारा इस्तेमाल न की जाये।

एच आई वी के लक्षण जानने के लिए अगली स्लाइड पर क्लिक करें

एच आई वी के लक्षण:

एच आई वी (HIV) और एड्स (AIDS) के कारण और लक्षण जो आपको जरूर पता होने चाहिए
Source

ज़्यादातर एच आई वी के लक्षण बैक्टीरिया, वायरस, फूंगी से होने वाले इन्फेक्शन की तरह होते है. यह हालत उन मनुष्यो में असर नहीं करती जिनका इम्यून सिस्टम स्वस्थ होता है।

एच आई वी इन्फेक्शन के शुरुआती लक्षण:

एच आई वी (HIV) और एड्स (AIDS) के कारण और लक्षण जो आपको जरूर पता होने चाहिए
Source

कई लोगो में एच आई वी के लक्षण कई महीनो तक नहीं दिखते। कुछ ऐसे लक्षण है:

बुखार
ठण्ड लग्न
जोड़ो में दर्द रहना
मांसपेशियों में दर्द होने
गाला दर्द होना
रात में पसीना आना
लाल धब्बे पड़ना
थकान होना
कमज़ोरी होना
बिना वजह वजन काम होना

कई लोगों में शुरुआती लक्षणों के बाद कई सालों तक कोई लक्षण नहीं होते। इस समय वायरस इंसान के अंगो और इम्यून सिस्टम को ख़राब कर देता है। बिना किसी लक्षण के इंसान बिना दवाई खाये स्वस्थ महसूस करता है।

लास्ट स्टेज एच आई वी के लक्षण:

अगर इसका इलाज नहीं किया जाये तो एच आई वी शरीर की इन्फेक्शन के प्रति लड़ने की शक्ति को ख़त्म कर देता है और इंसान गंभीर बिमारियों की चपेट में आ जाता है। इससे फिर एड्स हो जाता है।

लास्ट स्टेज एच आई वी के लक्षण:

एच आई वी (HIV) और एड्स (AIDS) के कारण और लक्षण जो आपको जरूर पता होने चाहिए
Source

धुंदलापन आना
दस्त लग्न
सुखी खांसी होना
कई हफ्तों तक 100 से ऊपर बुखार रहना
रात में पसीना आना
हमेशा थकान रहना
सांस न आना
बिना वजह वजन काम होना
जीभ और मुँह में सफ़ेद धब्बे पड़ना

एच आई वी और एड्स से जुड़ी गप्प और सच्चाई जानने के लिए अगली स्लाइड पर जाएँ

एच आई वी और एड्स से जुड़ी गप्प और सच्चाई:

एच आई वी (HIV) और एड्स (AIDS) के कारण और लक्षण जो आपको जरूर पता होने चाहिए
Source

एच आई वी और एड्स नीचे लिखी बातों से नहीं होता:
किसी से हाथ मिलाना
गले लगना
साधारण चुम्बन देना
छींकना
कटी हुई त्वचा को छूना
एक ही शौचालय का इस्तेमाल करना
एक ही तौलिया का इस्तेमाल करना

 

From Around the web