तो इसलिए जरूरी है रात को दूध पीना, जानिए जानिए

दूध शारीरिक पोषण का एक उत्कृष्ट स्रोत माना जाता है। इसमें उच्च गुणवत्ता वाले प्रोटीन, वसा, एवं विटामिंस के साथ-साथ कई तरह के मिनरल्स और एमिनो एसिड भी मौजूद होते हैं। वैसे दूध का सेवन किसी भी समय किया जाए तो भी यह फायदेमंद है, लेकिन रात को सोने से पहले दूध के सेवन के
 
तो इसलिए जरूरी है रात को दूध पीना, जानिए जानिए

दूध शारीरिक पोषण का एक उत्कृष्ट स्रोत माना जाता है। इसमें उच्च गुणवत्ता वाले प्रोटीन, वसा, एवं विटामिंस के साथ-साथ कई तरह के मिनरल्स और एमिनो एसिड भी मौजूद होते हैं। वैसे दूध का सेवन किसी भी समय किया जाए तो भी यह फायदेमंद है, लेकिन रात को सोने से पहले दूध के सेवन के कुछ अलग ही फायदे होते हैं। इस आर्टिकल में हम आपको इसी तथ्य सही जोड़ी रोचक बातें बताएंगे।

नींद दिलाने में मददगार

रात को सोने से पहले दूध पीने से इनसोम्निया अर्थात नींद ना आने की समस्या कभी नहीं होगी। क्योंकि दूध में ट्रिप्टोफैन नामक एक विशेष प्रकार का एमिनो एसिड पाया जाता है, जो हमारी बॉडी को रिलैक्स कराने और नींद दिलाने में सहायक होता है। दरअसल यह एमीनो एसिड हमारे शरीर में नींद दिलाने वाले मेलाटोनिन हार्मोन को सक्रिय कर देता है, जिस कारण हम रात को अच्छी तरह सो पाते हैं।

अगले दिन मिलती है भरपूर एनर्जी

रात को सोते समय हमारा शरीर स्थिर अवस्था में रहता रहता है। लेकिन हमारा पाचन तंत्र बचे हुए भोजन को पचाने के लिए सक्रिय रहता है। यह समय भोजन के पाचन के लिए बेहतर माना जाता है। इस कारण रात को सोने से पहले पिए हुए दूध का भरपूर पोषण भी प्राप्त होता है। इस वजह से अगले दिन के लिए हमारे शरीर को भरपूर ऊर्जा प्राप्त हो जाती है, जिससे सोकर उठने पर हम उर्जावान महसूस करते हैं।

पाचन तंत्र होता है मजबूत

इतना ही नहीं रात को सोने से पहले दूध पीने से हमारी कई पाचन संबंधी समस्याएं भी दूर हो जाती हैं। जैसे यदि किसी व्यक्ति को कब्ज की समस्या है या जिनकी बॉवेल एक्टिविटी बिगड़ गई है, उनके लिए रात के समय दूध का सेवन अति उत्तम माना जाता है। यह शरीर के मेटाबॉलिज्म को बैलेंस करने में भी काफी उपयोगी होता है। इस कारण यह डायबिटीज एवं ह्रदय रोगियों के लिए जरूरी माना जाता है।

ध्यान रखें इन बातों का

रात को सोने से पहले दूध पीने के लिए कुछ बातों को ध्यान में रखना भी काफी जरूरी होता है। दूध को हल्का गुनगुना करके पीना चाहिए और वह भी सोने से 1 या 2 घंटे पहले ताकि दूध के अणु आसानी से विघटित हो सकें। साथ हीं इस बात का ध्यान रखें कि दूध की मात्रा अधिक ना हो।

From Around the web