करें सही कैलोरी का प्रयोग – रहें जीवन पर मोटापे से दूर

किशोरावस्था में ध्यान न दिया तो आप भी फालतू मोटापे के शिकार हो सकते हैं।, जिससे पीछा छुड़ाना मुश्किल होता है। इतने भार को साथ ले कर घूमना मजाक नहीं होता इसलिए अभी से संभल जाएं। कोई भी किशोर मोटा होना पसंद नहीं करता। कल्पना करें कि आप केवल मोटे होने की वजह से ही
 
करें सही कैलोरी का प्रयोग – रहें जीवन पर मोटापे से दूर

किशोरावस्था में ध्यान न दिया तो आप भी फालतू मोटापे के शिकार हो सकते हैं।, जिससे पीछा छुड़ाना मुश्किल होता है। इतने भार को साथ ले कर घूमना मजाक नहीं होता इसलिए अभी से संभल जाएं।
कोई भी किशोर मोटा होना पसंद नहीं करता। कल्पना करें कि आप केवल मोटे होने की वजह से ही अपनी जींस में नही समा रहे या लोगों से घुल-मिल नहीं पा रहे। यदि आपका वजन ज्यादा है या ज्यादा होने की संभावना है तो किशोरावस्था में ही संभल जाएं। खुशखबरी यह है कि इस समय आपका मेटाबॉलिज़्म फालतू किलो घटाने में सहायक हो सकता हैं।
याद रखें कि कुछ लोगों का वजन, दूसरों के मुकाबले जल्दी घटता है इसलिए किसी मित्र से अपनी तुलना न करें। बस वही व्यायाम व रूटीन अपनाएं जो आपके माफ़िक हो।
शरीर की वसा घटाने के लिए कैलोरी की मात्रा घटानी होगी। सप्ताह में आधा किलो तक वजन घटाना सुरक्षित होगा। इसके लिए प्रतिदिन 500 कैलोरी की मात्रा घटानी होगी। इस तरह एक सप्ताह में 3500 कैलोरी घटेगी। कैलोरी की कम मात्रा ग्रहण करें तथा ली गई कैलोरी को व्यायाम द्वारा खर्च करें।
यदि आप 250 कैलोरी का चॉकलेट बार नहीं लेती व 5 कि.मी. भाग कर 250 कैलोरी खर्च करती हैं तो आपने 500 कैलोरी कम ली है। ऐसा रोज करें तो सप्ताह में लक्ष्य पूरा होगा।
आहार व्यायाम बजन घटाने का आदर्श तरीका है। व्यायाम जरूरी है क्योंकि इससे शरीर की वसा घटती है तथा कैलोरी व्यय होती हैं। एक कार्डियोवास्कुलर वर्क आउट के बाद आपकी मेटाबॉलिक दर, 6 से 7 घंटे के लिए 25 प्रतिशत तक बढ़ सकती हैं।
आपको वसा घटाने के लिए 30 से 60 मिनट तक की कार्डियोवास्कुलर गतिविधि की आवश्यकता होगी। चहलकदमी, तैराकी या साइकलिंग कार्डियो एक्सरसाइज के उदाहरण है। इसके साथ ही लिए गए भोजन व वसा की मात्रा भी घटानी होगी। अंततः एक निरंतर चलने वाले रूटीन यानी सोच समझ कर लिए गए आहार व किए गए व्यायाम से ही दीर्घकालीन वजन नियंत्रण संभव हो सकता हैं।

From Around the web