जल्दी जगने के बाद भी आलस रहता है?, तो आज ही करे ये चीज़, जल्द मिलेगा आराम

कई बार सुबह जगने के बाद भी हमारे शरीर में आलस छाया रहता है. रातभर सोने के बाद भी नींद आती रहती है. शरीर में थकान सी महसूस होती है. कुछ भी करने का मन नहीं करता. ऐसे में हमारा पूरा दिन खराब हो जाता है. ऐसी स्थिति का असर हमारी शारीरिक और मानसिक स्थिति
 
जल्दी जगने के बाद भी आलस रहता है?, तो आज ही करे ये चीज़, जल्द मिलेगा आराम

कई बार सुबह जगने के बाद भी हमारे शरीर में आलस छाया रहता है. रातभर सोने के बाद भी नींद आती रहती है. शरीर में थकान सी महसूस होती है. कुछ भी करने का मन नहीं करता. ऐसे में हमारा पूरा दिन खराब हो जाता है. ऐसी स्थिति का असर हमारी शारीरिक और मानसिक स्थिति पर भी पड़ता है. हालांकि इस आलस या सुस्ती को आप सिर्फ 15 मिनट में दूर भगा सकते हैं. इसके लिए आपको सुबह सिर्फ 15 मिनट योग करना है आप खुद को एकदम तरोताजा और एक्टिव महसूस करेंगे. ये योगासन मिनटों में आपकी नींद भगा देगा और आपको एक्टिव कर देगा. भले ही आपकी सुबह आसल से भरी हो लेकिन आपकी पूरा दिन एक्टिवनेस के साथ बीतेगा. इसके लिए आपको अपने दिन की शुरुआत मार्जरासन-बिटिलासन योग से करनी है. जानते हैं इसे करने का तरीका और फायदे.

आजकल बहुत से लोगों को सुबह उठते ही कमर में दर्द, मांसपेशियों में दर्द और शरीर के कई हिस्सों में दर्द रहता है. जिन लोगों को दर्द की शिकायत रहती है या सुबह से शरीर में आलस छाया रहता है. ऐसे लोगों को सुबह मार्जरासन-बिटिलासन करना चाहिए. बिटिलासन जिसका अर्थ है गाय का आसन, जिसे Cow pose भी कहते हैं. वहीं मार्जरासन को बिल्ली का आसन, जिसे Cat pose भी कहते हैं. इस आसन को करना बहुत फायदेमंद होता है. इससे आपकी रीढ़ और पीठ की मांसपेशियों का लचीलापन आ जाता है और दर्द भी दूर हो जाता है.

इसके फायदे।

1- अगर आप लैपटॉप पर या कंप्यूटर पर काम करते हैं तो आपको होने वाले गर्दन और पीठ के दर्द में इस योग से आराम मिलेगा.

2- इस योग से आपका शरीर और मन दोनों शांत होता है. आप किसी भी काम में पहले से ज्यादा मन लगा पाते हैं.

3- इससे आपका शरीर और दिमाग दोनों स्वस्थ रहता है जिससे आप कई तरह की बीमारियों से भी बचे रहते हैं.

4- मरिजरासन-बिटिलासन योग से आपके पॉश्चर में भी सुधार आता है. इससे पॉश्चर से जुड़ी परेशानियों कम होती हैं.

5- इस आसन से रीढ़ की हड्डी पर बहुत असर पड़ता है. इससे बैक पेन होने से बचा जा सकता है.

6- आपके लोअर बैक, मिडिल बैक, गर्दन और कंधों के दर्द को खत्म करता है और तनाव कम करता है.

7- इस योग से आपकी कोर मसल्स मजबूत होती हैं और बॉडी में स्टेबिलिटी आती है.

8- काम करते वक्त हाथ, कंधों और कलाई में होने वाले दर्द में राहत पहुंचाता है उन्हें मजबूत बनाता है.

9- इस एक्सरसाइज से आपका पाचनतंत्र मजबूत बनता है. इससे लंबे समय तक आपके हिप ज्वाइंट, घुटने के ज्वाइंट, कंधों के जोड़ मजबूत रहते हैं.

10- सोते वक्त आपके स्ट्रेस को कम करता है और बॉडी पोश्चर में सुधार लाता है.

From Around the web