लौकी खाने के फयदे जानकर चौक जांएँगे आप, जल्दी जानिए

लौकी को हल्की सब्जियों में गिना जाता है। इसे खाने से पेट में भारीपन नहीं रहता बल्कि यह शरीर में ताजगी बनाए रखने में सहायक है। प्रतिदिन तरोताजा बने रहने के लिए नमक या मसाले डालकर लौकी का जूस पीना कारगर उपाय है। वजन कम करने में सहायक बेहद कम लोग इस बात को जानते
 
लौकी खाने के फयदे जानकर चौक जांएँगे आप, जल्दी जानिए

लौकी को हल्की सब्जियों में गिना जाता है। इसे खाने से पेट में भारीपन नहीं रहता बल्कि यह शरीर में ताजगी बनाए रखने में सहायक है। प्रतिदिन तरोताजा बने रहने के लिए नमक या मसाले डालकर लौकी का जूस पीना कारगर उपाय है।

 वजन कम करने में सहायक

बेहद कम लोग इस बात को जानते हैं कि लौकी वजन को कम करती है।ये और दूसरी चीजों के मुकाबले तेजी से वजन कम करने में सहायक होती है। लौकी को उबालकर नमक के साथ खाने से वजन जल्दी ही कुछ ही दिनों में घट जाता है। लौकी में फाइबर की अच्छी मात्रा से जल्द भूख नहीं लगती और पेट भी भरा-भरा सा लगता है। 

 अनिद्रा से राहत

अनिद्रा की समस्या से पीड़ित लोग लौकी के रस के साथ तिल का तेल मिलाकर पी सकते हैं ।

 चेहरे में लाए प्राकृतिक निखार

चेहरे को अंदर और बाहर से प्राकृतिक सुंदरता और निखार लाने के लिए प्रतिदिन लौकी का सेवन करना चाहिए। लौकी चेहरे को सुंदर और आकर्षक बनाती है।

 पेट होगा साफ

लौकी का जूस पेट की अंदरूनी सफाई करता है जिससे चेहरे पर धूल धूप और प्रदूषण से होने वाले मुहांसों से छुटकारा मिलता है। साथ ही त्वचा खूबसूरत और मुलायम बनी रहती है।

स्वस्थ ह्रदय

आजकल लोगों में दिल की कई समस्याओं के बारे में सुना जाता है जो हल्के और गंभीर दिल के दौरे को जन्म दे सकती हैं । कुछ लोगों को यह तकलीफ अनुवांशिक होती है और कुछ लोगों की जीवनशैली और अनुचित आहार इसका कारण होती है | अपने दिल को स्वस्थ रखने के लिए लौकी का रस पी सकते हैं। यह रक्तचाप को नियंत्रित करके दिल का प्रभावी ढंग से विकास करके उसे स्वस्थ रखेगा ।

डाइबिटीज

लौकी डाइबिटीज के मरीजों को बेहद फायदा पहुंचाती है। खाली पेट लौकी का जूस का सेवन डाइबिटीज के मरीजों को सुबह-सुबह करना चाहिए।

 पेशाब संबंधी दिक्क्त

पेशाब संबंधी दिक्कतें यानि यूरिन डिसआर्डर को दूर करने में लौकी एक सफल और कारगर उपाय है। लौकी शरीर से सोडियम की अधिक मात्रा को कम करने में सहायक है। और इसे पेशाब के जरिए बाहर निकाल देता है। 1 गिलास जूस मूत्र विसर्जित होने में हो रही जलन की समस्या को दूर करता है।

तनाव में कमी

बच्चे से लेकर बुजुर्ग व्यक्ति तक तनाव काफी आम हो गया है। अगर आप अस्वास्थ्यकर आहार लेते रहें, तो स्थिति बिगड़ती जा सकती है। पर्याप्त पानी की मात्रा होने के कारण आप लौकी खा सकते हैं जो शरीर को ठंडा प्रभाव देगी। लौकी में पित्तशामक गुण होने के कारण आप अपने शरीर को आंतरिक रूप से शांत महसूस करेंगे ।

From Around the web