क्या नाश्ते में रोज ब्रेड खाना बेहतर है? जानिए क्या कहते हैं विशेषज्ञ

Is it better to have bread everyday for breakfast? Know what experts say
 
Is it better to have bread everyday for breakfast Know what experts say

Health desk आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में कुछ लोग रेडी टू ईट खाने में अपना दिन गुजार देते हैं। ब्रेकफास्ट में लोग ब्रेड (Bread) जैम, टोस्ट, ब्रेड-बटर खाना पसंद करते हैं क्योंकि इसे बनाने में कुछ घंटे नहीं लगते हैं.

यह पेट भरता है और तुरंत ऊर्जा देता है। लेकिन, क्या नाश्ते में ब्रेड खाना वाकई आपकी सेहत के लिए अच्छा है? क्या अत्यधिक सेवन से शरीर में शुगर का स्तर बढ़ रहा है? तो आइए जानें कि विशेषज्ञ इस बारे में क्या सोचते हैं कि क्या रोज ब्रेड खाना सेहत के लिए अच्छा है।

- क्या रोज Bread खाना हानिकारक है?

विशेषज्ञों के अनुसार, ब्रेड के स्वास्थ्य पर सकारात्मक और नकारात्मक दोनों प्रभाव पड़ सकते हैं, लेकिन फिर भी इसे कम मात्रा में ही खाना चाहिए। शोध के अनुसार आटे से बनी रोटी सेहत के लिए हानिकारक हो सकती है। इससे कब्ज, अपच, पेट दर्द जैसी पेट संबंधी समस्याएं हो सकती हैं। क्योंकि रोटी को पचने में काफी समय लगता है।

Is it better to have bread everyday for breakfast Know what experts say

- रोज Bread खाने से होता है यह नुकसान

- वजन बढ़ना

रोज ब्रेड के सेवन से वजन बढ़ सकता है। इसमें कार्ब्स, नमक, चीनी की मात्रा अधिक होती है, जिससे शरीर में चर्बी जमा हो जाती है और वजन बढ़ने लगता है।

- ब्लड शुगर

बढ़ाता है एक तरफ जहां ब्रेड (Bread) का समय बचता है, वहीं दूसरी तरफ यह शुगर लेवल को भी बढ़ा सकता है। दरअसल, इसमें हाई ग्लाइसेमिक इंडेक्स होता है जो ब्लड शुगर लेवल को बढ़ाता है। इससे भविष्य में मधुमेह होने की संभावना बढ़ जाती है।

- कब्ज बढ़ जाती है

अगर आप ज्यादा सफेद ब्रेड खाते हैं, तो आपको कब्ज की समस्या हो सकती है। ब्रेड में फाइबर कम और फ्रुक्टोज कॉर्न शुगर अधिक होता है, जो पाचन तंत्र को खराब करता है। साथ ही, यह चयापचय को धीमा कर देता है, जिससे भोजन को पचाना मुश्किल हो जाता है।

- तंद्रा और सुस्ती

रोटी खाने के बाद व्यक्ति को सुस्ती और उनींदापन का अनुभव होना आम बात है। ऐसा इसलिए है क्योंकि इसमें स्टार्च की मात्रा अधिक होती है। पाचन प्रक्रिया के दौरान, स्टार्च ग्लूकोज के मूल रूप में टूट जाता है, जो मूड को प्रभावित करता है और आपको सुस्ती का एहसास कराता है।

- पेट की समस्या

कुछ लोगों को नाश्ते में ब्रेड खाने के बाद पित्त, सीने में जलन, पेट खराब या खट्टी डकार आने लगती है। दरअसल, यह समस्या उन लोगों के लिए बनी रहती है जिन्हें ब्लॉटिंग की समस्या रहती है। वहीं, कुछ लोगों के पेट में रोटी पच नहीं पाती है, जिससे ये समस्याएं हो सकती हैं।

- तो नाश्ते में क्या खाएं?

आप रोज ब्रेड खा सकते हैं, लेकिन सीमा के भीतर।

अगर आप ब्रेड पसंद करते हैं, तो मल्टीग्रेन या ब्राउन ब्रेड या मूंगफली चुनें। इसमें कई पोषक तत्वों के अलावा उच्च फाइबर होता है, जो इसे पचाने में आसान बनाता है।

नाश्ते के लिए दूध, अंडे, पनीर और दही जैसे प्रोबायोटिक खाद्य पदार्थ खाएं। ऐसा आहार पेट में अच्छे बैक्टीरिया को बढ़ावा देता है।

फाइबर युक्त खाद्य पदार्थ जैसे ओट्स, ओटमील आदि का सेवन भी नाश्ते के लिए एक स्वस्थ विकल्प है।

याद रखें, नाश्ता दिन का सबसे महत्वपूर्ण भोजन है क्योंकि यह मेटाबॉलिज्म को बूस्ट करता है, जिससे आपको पूरे दिन एनर्जी मिलती है। ऐसे में यह बहुत जरूरी है कि आप नाश्ते में हेल्दी और पौष्टिक खाना खाएं। अगर दिन की शुरुआत गलत हुई तो आप पूरे दिन सुस्ती और थकान महसूस करेंगे।

Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं मान्यताओं पर आधारित हैं. Sabkuchgyan इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें. इस खबर से सबंधित सवालों के लिए कमेंट करके बताये और ऐसी खबरे पढ़ने के लिए हमें फॉलो करना ना भूलें - धन्यवाद

From Around the web