इस तरह हाई ब्लड प्रेशर कंट्रोल में आ जाएगा

 
In this way high blood pressure will come under control

एक बार जब ब्लड प्रेशर बढ़ना शुरू हो जाता है, तो इसे नियंत्रित करना बहुत मुश्किल होता है। और अगर हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल नहीं किया गया तो हार्ट अटैक की संभावना बढ़ जाती है। इससे स्ट्रोक और दिल का दौरा पड़ सकता है।

यदि उच्च रक्तचाप को नियंत्रित नहीं किया गया तो यह बाद में गंभीर नुकसान पहुंचा सकता है। हालांकि डॉक्टर मरीज को ब्लड प्रेशर कम करने के लिए तरह-तरह की दवाएं लेने की सलाह देते हैं। हालांकि आप चाहें तो घर पर ही हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल कर सकते हैं। पता लगाओ कैसे-

सोडियम का सेवन कम करें

कई अध्ययनों से पता चला है कि अधिक सोडियम का सेवन स्ट्रोक का कारण बन सकता है। न केवल उच्च रक्तचाप के रोगियों के लिए बल्कि स्वस्थ रहने के लिए सभी को नमकीन प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थों से बचना चाहिए। प्रति दिन 2,300 मिलीग्राम (मिलीग्राम) से अधिक नमक नहीं लेना चाहिए।

पोटेशियम की मात्रा बढ़ाएं

उच्च रक्तचाप से पीड़ित लोगों के लिए पोटेशियम एक आवश्यक पोषक तत्व है। यह मिनरल शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होता है। शरीर में पर्याप्त मात्रा में पोटैशियम होने से रक्त वाहिकाओं पर दबाव कम होता है।

पोटेशियम शरीर में अतिरिक्त सोडियम की मात्रा को कम करने में भी मदद करता है। इसके लिए आपको अपने आहार में पोटेशियम युक्त खाद्य पदार्थों को शामिल करना होगा। 

जैसे : 

सब्जियां - सब्जियां, टमाटर, आलू और शकरकंद।
फल - तरबूज, केला, एवोकैडो, संतरा और खुबानी।
अन्य - नट और बीज, दूध, दही, टूना और सामन।

In this way high blood pressure will come under control

नियमित रूप से व्यायाम करें

नियमित व्यायाम या शरीर सौष्ठव का कोई विकल्प नहीं है। अध्ययनों से पता चला है कि स्वस्थ रहने और पुरानी बीमारी के जोखिम को कम करने के लिए सभी को नियमित रूप से 30-45 मिनट तक व्यायाम करना चाहिए।

यह उन लोगों के लिए और भी आवश्यक है जो उच्च रक्तचाप से पीड़ित हैं। नियमित व्यायाम से हृदय स्वस्थ रहता है। इससे रक्त प्रवाह बढ़ता है और धमनियों पर दबाव कम होता है। रोजाना 40 मिनट पैदल चलने पर भी आप स्वस्थ रहेंगे

शराब और धूम्रपान छोड़ना

सिगरेट और शराब दोनों ही हाई ब्लड प्रेशर को बढ़ाते हैं। शराब और निकोटीन अस्थायी रूप से रक्तचाप के स्तर को बढ़ाकर रक्त वाहिकाओं को नुकसान पहुंचा सकते हैं। चूंकि ये दोनों तत्व स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हैं, इसलिए इन्हें छोड़ देना ही बेहतर है।

कम कार्बोहाइड्रेट खाएं

हाल के विभिन्न अध्ययनों के अनुसार, कार्ब्स और चीनी उच्च रक्तचाप को बढ़ाते हैं। तो कार्बोहाइड्रेट वाले खाद्य पदार्थ रक्तचाप के स्तर को नियंत्रित करने में मदद करते हैं। ब्रेड और व्हाइट शुगर जैसे खाद्य पदार्थ रक्त शर्करा के स्तर को बढ़ाते हैं।

इसलिए हाई ब्लड प्रेशर से पीड़ित लोगों को लो-कार्ब डाइट फॉलो करनी चाहिए। सफेद चीनी, आटा सहित विभिन्न प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थों से बचें।

Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं मान्यताओं पर आधारित हैं. Sabkuchgyan इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें. इस खबर से सबंधित सवालों के लिए कमेंट करके बताये और ऐसी खबरे पढ़ने के लिए हमें फॉलो करना ना भूलें - धन्यवाद

From Around the web