अगर आप भी है किडनी की पथरी से परेशान तो अपनाएं ये 5 आसान से घरेलू उपाय

किडनी में पथरी होना बहुत ही आम समस्या है| यूरिन में यूरिक एसिड, फॉस्फोरस, कैल्शियम और ऑक्जेलिक एसिड होते है| यही सारे रासायनिक तत्व पथरी बनाने के लिए उत्तरदायी होते हैं| बहुत अधिक मात्रा में विटामिन डी के सेवन से, शरीर में लवणों के असंतुलन से, डीहाइड्रेशन से और अनियमित डाइट की वजह से भी
 
अगर आप भी है किडनी की पथरी से परेशान तो अपनाएं ये 5 आसान से घरेलू उपाय

किडनी में पथरी होना बहुत ही आम समस्या है| यूरिन में यूरिक एसिड, फॉस्फोरस, कैल्शियम और ऑक्जेलिक एसिड होते है| यही सारे रासायनिक तत्व पथरी बनाने के लिए उत्तरदायी होते हैं| बहुत अधिक मात्रा में विटामिन डी के सेवन से, शरीर में लवणों के असंतुलन से, डीहाइड्रेशन से और अनियमित डाइट की वजह से भी किडनी में पथरी हो जाती है|

1. नि3म्बू का रस और ऑलिव ऑयल

बरसों से निम्बू का रस और ऑलिव ऑयल को मिलाकर उसका सेवन गॉलब्लेडर की पथरी के लिए किया जाता रहा है लेकिन किडनी की पथरी में भी ये काफी लाभ पहुंचता है | नींबू के रस में मौजूद सिट्रिक एसिड कैल्शियम बेस वाली पथरी को तोड़ने का काम करता है और दोबारा बनने से भी रोकता है| इस को बनाने के लिए नींबू के रस और ऑलिव ऑयल को बराबर मात्रा में लेकर मिला लें और दिन में दो से तीन बार सेवन करें|

2. अनार

अनार के जूस और उसके बीज दोनों में ही एस्ट्रीजेंट गुण होता है जो कि किडनी की पथरी के इलाज में काफी कारगर है| प्रतिदिन एक अनार खाना या फिर उसका जूस पीना बहुत फायदेमंद हो सकता है|

3. तरबूज

मैग्न‍िशियम, फॉस्फेट्स, कार्बोनेट और कैल्शियम से बनी किडनी की पथरी के इलाज के लिए तरबूज एक बहुत अच्छा उपाय है| तरबूज में पर्याप्त मात्रा में पोटैशियम मौजूद रहता है |यह पोटैशियम यूरीन में एसिड लेवल को संतुलित रखने में मदद करता है| पोटैशियम के साथ ही पानी भी भरपूर होता है जो कि पथरी को प्राकृतिक तरीके से शरीर से बाहर निकाल देता है|

4. राजमा

राजमा में फाइबर बहुत होता है| इसे किडनी बीन्स के नाम से भी जाना जाता है| किडनी बीन्स किडनी और ब्लेडर से जुड़ी हर किस्म की समस्या से राहत दिलाने में लाभदायक होती है| इसे बनाने से पूर्व जिस पानी में भि‍गोया जाता है उसे पीने से भी बहुत फायदा होता है|

From Around the web