लगातार काले जीरे का सेवन किया जाए, तो शरीर में रहता हैं इन बीमारियों से दूर- जानिए इसके बारे में

आज मैं आपको एक ऐसी चीज के बारे में बताने जा रहा हूँ, जिसका सेवन करने से शरीर में बीमारियां नहीं आती हैं। उस चीज का नाम है काला जीरा। काला जीरा में ऐसे औषधीय गुण पाए जाते हैं जो शरीर को स्वस्थ बनाए रहता है और सबसे बड़ी इसकी खासियत है कि यह शरीर
 

आज मैं आपको एक ऐसी चीज के बारे में बताने जा रहा हूँ, जिसका सेवन करने से शरीर में बीमारियां नहीं आती हैं। उस चीज का नाम है काला जीरा। काला जीरा में ऐसे औषधीय गुण पाए जाते हैं जो शरीर को स्वस्थ बनाए रहता है और सबसे बड़ी इसकी खासियत है कि यह शरीर को बीमारियों से दूर रखता है। आयुर्वेद में भी यह बहुत ही गुणकारी माना जाता है। आइये जानते है इसके कुछ फायदों के बारे में।

काला जीरा के फायदे

लगातार काले जीरे का सेवन किया जाए, तो शरीर में रहता हैं इन बीमारियों से दूर- जानिए इसके बारे में

अगर 3 महीने तक लगातार काले जीरे का सेवन किया जाए, तो शरीर में जमा अनावश्यक फैट घटाने में मदद मिलती है। काला जीरा फैट को गला कर अपशिष्ट पदार्थों (मल-मूत्र) के माध्यम से शरीर से बाहर कर देता है। इसके नियमित सेवन से रोग-प्रतिरोधक क्षमता बेहतर होती है, ये शरीर की इम्यूनिटी बढ़ाने में बोन मैरो, नेचुरल इंटरफेरॉन और रोग-प्रतिरोधक सेल्स की मदद करता है।

साथ ही इसका सेवन शरीर में ऊर्जा का संचार करता है जिससे जल्द थकान और कमजोरी महसूस नहीं होती। काले जीरे में एंटीमाइक्रोबियल गुण होते है जिसके कारण ये पेट संबंधी कई समस्याओं में लाभकारी है, जैसे पाचन संबंधी गड़बड़ी, गैस्ट्रिक, पेट फूलना, पेट-दर्द, दस्त, पेट में कीड़े होना आदि समस्याओं में यह राहत देता है।

लगातार काले जीरे का सेवन किया जाए, तो शरीर में रहता हैं इन बीमारियों से दूर- जानिए इसके बारे में

धीरे-धीरे पचने वाला खाना खाने के बाद थोड़ा-सा काला जीरा खाने से तत्काल लाभ होता है। सर्दी-जुकाम, कफ से बंद नाक के लिए काला जीरा इन्हेलर का काम भी करता है। ऐसी स्थिति में थोड़ा सा भुना जीरा रूमाल में बांध कर सूंघने से आराम मिलता है।

लगातार काले जीरे का सेवन किया जाए, तो शरीर में रहता हैं इन बीमारियों से दूर- जानिए इसके बारे में

अस्थमा, काली खांसी, ब्रोंकाइटिस, एलर्जी से होने वाली सांस की बीमारियों में भी यह फायदेमंद है। काले जीरे का तेल सिर और माथे पर लगाने से माइग्रेन जैसे दर्द में लाभ होता है। गर्म पानी में काले जीरे के तेल की कुछ बूंदें डाल कर कुल्ला करने से दांत दर्द में काफी राहत मिलती है। एंटी बैक्टीरियल गुणों के कारण काला जीरा संक्रमण को फैलने से रोकता है। काले जीरे के पाउडर का लेप घाव, फोड़े-फुंसियां आदि पर लगाने से वे आसानी से भर जाते हैं।

अगर आपको हमारी जानकारी पसंद आयी हो तो इसे शेयर, लाइक और हमारे वेबसाइट को फॉलो करें।

From Around the web