आंखो में हो रही है दर्दनाक फुंसी? तो आज ही करे इन तरीको को 

हमारे आंखों में दर्द, बेचैनी और साथ ही जलन जैसा होने वाली परेशानी को कुछ घरेलू उपायों के कारण ख़त्म हो जाते हैं. अगर आप वक्त रहते ही इस पर नजर पड़ गई तो आप आसानीपूर्वक ठीक कर सकते हैं. नहीं तो फिर बाद में होने वाली समस्यों का सामना करना पड़ सकता हैं. अगर
 
आंखो में हो रही है दर्दनाक फुंसी? तो आज ही करे इन तरीको को 

हमारे आंखों में दर्द, बेचैनी और साथ ही जलन जैसा होने वाली परेशानी को कुछ घरेलू उपायों के कारण ख़त्म हो जाते हैं. अगर आप वक्त रहते ही इस पर नजर पड़ गई तो आप आसानीपूर्वक ठीक कर सकते हैं. नहीं तो फिर बाद में होने वाली समस्यों का सामना करना पड़ सकता हैं. अगर आपके आंखो के निचली परत पर फुंसी हो जाती हैं. कुछ लोग इसे अंजनहारी के नाम से जानते हैं, तो वही डॉक्टर्स हिसाब से गुहेरी के नाम से जानते हैं. यह होने के बाद बहुत ज्यादा परेसानी होती हैं. तो हमारे इस पोस्ट को अंत तक जरुर पढ़े और साथ ही हमारे इस पोस्ट को लाइक, कमेन्ट और हमें फ़ॉलो भी करें.

तो चलिए जानते हैं विस्तार से

आंखो में होने वाले फुंसी के लक्षण

आंखो में होने वाले फुंसी के कुछ ऐसे लक्षण होते हैं. जैसे कि आंखो के पलक में सुजन होना, आंखो में गांठ होना, आंखो से पानी आना, आंखो का लाल होना, आंखो में सूखापन आना और साथ ही आंखो में भारीपन फील होना ये सब लक्षण होते हैं.

आंखो में फुंसी, गुहेरी और साथ ही अंजनहारी होने का मुख्य कारण ये हैं

हमारे आंखो में फुंसी, अंजनहारी और गुहेरी होने का मुख्य करना यह हैं कि एक बैक्टीरिया के कारण होता हैं. डॉक्टर्स उन्हें स्टेफिलोकोसस के नाम से जानते हैं. आपको बता दे कि यह बीमारी उन व्यक्तियों को होता हैं. जिन्हें कोलेस्टोल का लेवल बहुत होना, डायबिटीज इत्यादि होने के कारण होता हैं. कुछ लोगो का कहना हैं कि हमारे शरीर में विटामिन डी और विटामिन ए के कमी होने के कारण यह होता हैं. और साथ ही इसका एक और कारण होता हैं जिसे कब्ज कहते हैं.

घरेलू उपाय इस प्रकार हैं

आप तो जानते ही हैं अमरुद के बारे में तो यह अमरुद के पत्ते बहुत ही फायदेमंद होते हैं. अमरुद के पत्ते को अच्छे से पानी में उबाल लें, फिर किए गये गर्म पानी में एक कपड़ा से भिगोकर उसे अपने आंखो के पलकों पर आराम-आराम से सिकाई करें. ऐसे करने से आपको राहत मिलेगा हैं.
आलू के बारे में तो जानते ही हैं. आलू के ऊपरी हिस्से यानि आलू के छिलके निकाल कर. फिर कुछ देर तक उसे अपने आंखो के पलकों पर लगाकर रखें. इसे आप दिन या रात में दो से तीन बार जरुर करें. ऐसे करने से आंखों के सुजन में राहत मिलेगा.कुछ मात्रा में साबुत धनिया को पानी में अच्छे से उबालें और फिर उसे ठंडा पानी से आंखो को अच्छे से धोएं. ऐसे करने से आंखो में आराम मिलता हैं. और धीरे-धीरे फुंसी ख़त्म भी होने लगते हैं.
खजूर के बीज को पानी में भिगोकर उसे घिसकर अपने आंखो पर लगते हैं तो इसे भी फायदेमंद साबित होता हैं. और फिर फुंसी और गुहरी में राहत मिलता हैं.

एलोवेरा जेल के अनेकों फायदे के बारे में तो आप जानते ही हैं. एलोवेरा जेल को अपने आंखों पर 10 से 15 मिनट तक लागए रखें. फिर एलोवेरा जेल को हटाने एक बाद कुछ देर बाद अपने आंखो को धो लें. आंखो को राहत मिलता हैं ऐसे करने से और साथ ही फायदेमंद साबित भी होता हैं.
एक गिलास पानी तथा कुछ मात्रा में पीसा हुआ हल्दी के पाउडर को मिलाकर उसे उबालें. कुछ देर बाद पानी जब ठंडा हो जाए. तो इसे पानी से अपने आंखो को अच्छे से दो से तीन बारे जरुर ही धोएं. इसमें आंखो को राहत मिलेगा.
ग्रीन टी के बारे में तो आप जानते ही हैं. ग्रीन टी बैग को लें और उसे हल्का गर्म पानी में उबाल कर कुछ देर तक अपने आंखो पर धीरे-धीरे सिकाई करें. ऐसे करने से आंखो के दर्द में राहत मिलता हैं.

From Around the web