क्या आपको पता है की बारिश के मौसम में क्या खाएं और क्या न खाएं?, जाने अभी 

मानसून वर्ष के व्यापक रूप से प्रशंसित मौसमों में से एक है। इस समय के दौरान बहुत से लोग अपने भीतर के खाने को चैनलाइज करना पसंद करते हैं और अस्वास्थ्यकर भोजन करना समाप्त कर देते हैं। पकौड़े जैसी स्वादिष्ट तली हुई चीजों का सेवन काफी आम है। जबकि यह सच है कि बारिश का
 
क्या आपको पता है की बारिश के मौसम में क्या खाएं और क्या न खाएं?, जाने अभी 

मानसून वर्ष के व्यापक रूप से प्रशंसित मौसमों में से एक है। इस समय के दौरान बहुत से लोग अपने भीतर के खाने को चैनलाइज करना पसंद करते हैं और अस्वास्थ्यकर भोजन करना समाप्त कर देते हैं। पकौड़े जैसी स्वादिष्ट तली हुई चीजों का सेवन काफी आम है। जबकि यह सच है कि बारिश का मौसम आनंद लेने लायक है, यह नहीं भूलना चाहिए कि यह एक ऐसा समय भी है जब व्यक्ति को टाइफाइड, फूड पॉइजनिंग, डायरिया आदि कई तरह की बीमारियों के होने का खतरा होता है।

उस मौसमी फ्लू और बुखार के अलावा, इस दौरान जलजनित बीमारियों का फैलना भी काफी आम है। इसलिए यह महत्वपूर्ण है

क्या खाने के लिए:

यह मौसम बहुत अधिक नमी लेकर आता है जिसके कारण लोगों को सामान्य से अधिक पसीना आता है और शरीर से आवश्यक लवण समाप्त हो जाते हैं। संतुलन बनाए रखने के लिए, स्वस्थ पेय जैसे ताजा सूप, कड़ा, हर्बल चाय आदि का सेवन बढ़ाना चाहिए।

मौसमी फलों के सेवन से शरीर को पर्याप्त मात्रा में विटामिन और मिनरल्स मिलते हैं।

लौकी, तुरई, करेला, कद्दू आदि जैसी सब्जियां इस समय के दौरान व्यापक रूप से उपलब्ध होती हैं। ये सभी आहार फाइबर और एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होते हैं जो पेट को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं।

काली मिर्च, तुलसी, पुदीना, नीम जैसी जड़ी-बूटियों और मसालों का सेवन अधिक करना चाहिए क्योंकि इनमें एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं जो फ्लू आदि जैसी चीजों को दूर रखने में आपकी मदद करेंगे।

क्या बचना चाहिए:

नमी और तापमान बढ़ने से पत्तेदार सब्जियों पर फफूंद लगने की संभावना रहती है। इसलिए बेहतर होगा कि आप इस मौसम में इन सब्जियों का सेवन न करें। यदि आप ऐसी सब्जियों के बहुत शौकीन हैं तो सुनिश्चित करें कि आप उन्हें अच्छी तरह धो लें और केवल पके हुए रूप में ही इसका सेवन करें।

बारिश के मौसम का असर पाचन तंत्र पर पड़ सकता है। इससे बचने के लिए तेल या तला हुआ खाना खाने से बचना चाहिए।

इस मौसम के दौरान सबसे बड़ी समस्याओं में से एक जल प्रदूषण है, इसलिए सभी प्रकार की मछलियों सहित सभी समुद्री भोजन से बचना चाहिए क्योंकि वे खतरनाक बीमारियों के वाहक हो सकते हैं।

From Around the web