क्या आप भी नीचे बैठकर खाना खाते हैं तो जान लें इससे जुडी सेहत की बातें

अगर हमारे पूर्वज परिवार के बारें में जो कुछ भी बात की जाए तो पता चलता हैं की ये 100 साल तक हट्टे ओर कट्टे रहा करते थे और हमेशा आयुर्वेदिक चीजों के साथ नियमों का पालन करते हुई ही अपने दिलजरियां को पूरी करने का प्रयास करते थे आज भी कई लोग ऐसे हैं
 
क्या आप भी नीचे बैठकर खाना खाते हैं तो जान लें इससे जुडी सेहत की बातें

अगर हमारे पूर्वज परिवार के बारें में जो कुछ भी बात की जाए तो पता चलता हैं की ये 100 साल तक हट्टे ओर कट्टे रहा करते थे और हमेशा आयुर्वेदिक चीजों के साथ नियमों का पालन करते हुई ही अपने दिलजरियां को पूरी करने का प्रयास करते थे आज भी कई लोग ऐसे हैं जो जीवन को अपने तरीके से जीते हैं तभी तो वह स्वाथ्य और लम्बी उम्र तक जीते हैं क्या आपको पता हैं की पुराने समय में लोगों की अच्छी सेहत और लम्बी उम्र के कई राज में से एक राज था जमीन में बैठकर भोजन करना जी हाँ जब पहले के जमाने में टेबल कुर्सी नहीं हुआ करती थी तो लोग अपने परिवार के साथ जमीन पर बैठकर खाना खाते थे लेकिन बदलते समय के साथ लोग बदल गए टेबल चेयर का समय शुरू हो गया.

जमीन पर खाना खाने से कई ऐसे स्वास्थ्य लाभ होते हैं जिनसे आप अंजान हैं आज भी जमीन पर बैठकर खाना खाने वाले लोग ज्यादा स्वथ्य रहते हैं तो आइए जानते हैं इस तरह भोजन ग्रहण करने से ऐसे कौन-कौन से लाभ मिलते हैं, दरअसल, पालथी माकर बैठने को योग की भाषा में सुखासन या पद्मासन भी कहा जाता है, जो कि एक योग की क्रिया है इसलिए जब भी आप पालथी मारकर बैठते हुए खाना खाते है तो वह एक योग की मुद्रा भी होती है और इस तरह से खाना खाने से दिमाग शांत रहता है और पीठ में होने वाले दर्द और शरीर के तनाव से राहत मिलती है.

From Around the web