सिर्फ पांच मिनट करलें दिन में यह आसन फिर देखें इसके चमत्कारी लाभ

इस एक्सरसाइज को ज्ञान मुद्रा कहा जाता है इससे हमारा दिमाग तेज होता है और मन प्रशन्नचित बना रहता है यह मुद्रा दिमाग की शक्ति बढ़ाने में बहुत ही सहायक है इस मुद्रा या एक्सरसाइज को ज्यादा समय देने की भी जरुरत नहीं है इसे दिन में सिर्फ पांच से सात मिनट करना काफी है
 

इस एक्सरसाइज को ज्ञान मुद्रा कहा जाता है इससे हमारा दिमाग तेज होता है और मन प्रशन्नचित बना रहता है यह मुद्रा दिमाग की शक्ति बढ़ाने में बहुत ही सहायक है इस मुद्रा या एक्सरसाइज को ज्यादा समय देने की भी जरुरत नहीं है इसे दिन में सिर्फ पांच से सात मिनट करना काफी है |

करने की विधि

सबसे पहले साफ़ जगह पर चटाई या दरी बिछा कर बैठ जाएँ इसके बाद सुखासन या फिर पद्मासन की स्थिति में बैठ आ जाएं इस मुद्रा को हम खड़े होकर भी कर सकते हैं या फिर कुर्सी पर बैठ कर भी कर सकते हैं |

अब अपने दोनों हाथों को अपने घुटने पर रखें और हथेलियों को आसमान की तारफ खोलें इसके बाद अपनी तर्जनी अंगुली को अपने अंगूठे से स्पर्श करें और बाकी अँगुलियों को वैसा ही खुला छोड़ दें |

इस मुद्रा या योग को आप दोनों हाथों से करें और दिन में कम से कम पांच से पंद्रह मिनट तक करें इसे आप सुबह और शाम दोनों समय कर सकते हैं |

ज्ञान मुद्रा के लाभ

इसको करने से बुद्धि और स्मरण शक्ति बढ़ती है यह ध्यान के लिए सबसे अच्छी मुद्रा है, इसको करने से एकाग्रता में वृद्धी होती है और शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है |

इस आसन को करने से जिन लोगों को सर दर्द, अनिद्रा और चिडचिडापन रहता है उसमे बहुत लाभ मिलता है इस मुद्रा को करने के बाद दूसरा कोई आसन नहीं करना चाहिए |

From Around the web