डायबिटीजः इन पांच नेचुरल तरीकों से अपने शुगर लेवल को कंट्रोल करें

डायबिटीज (Diabetes) के मरीजों की संख्या आजकल बढ़ती ही जा रही है, इनका मुख्य कारण आपके दिनचर्या से जुड़ा हुआ है जिसमे आपके खान पान के अलावा आपके सोने और जागने का अनियमित समय भी है, लोग आजकल बाहर के चटपटे, मसालेदार और ज्यादा तला भुना हुआ खाना का सेवन अधिक मात्रा में करने लगे
 
डायबिटीजः इन पांच नेचुरल तरीकों से अपने शुगर लेवल को कंट्रोल करें

डायबिटीज (Diabetes) के मरीजों की संख्या आजकल बढ़ती ही जा रही है, इनका मुख्य कारण आपके दिनचर्या से जुड़ा हुआ है जिसमे आपके खान पान के अलावा आपके सोने और जागने का अनियमित समय भी है, लोग आजकल बाहर के चटपटे, मसालेदार और ज्यादा तला भुना हुआ खाना का सेवन अधिक मात्रा में करने लगे है जिससे डायबिटीज के अलावा कोलेस्ट्रोल, मोटापा बढ़ने और अन्य तरह के बिमारियों की चपेट में आ जाते है लेकिन अगर आप अपने शुगर लेवल को कंट्रोल और इस डायबिटीज से बचना चाहते है तो आप कुछ निम्नलिखित उपाय को अपना सकते है। सही डाइट प्लान, घेरलू उपायों और व्यायाम की मदद से आप डायबिटीज़ को कंट्रोल कर सकते हैं

मेथी के दाने

मेथी के दाने हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल में करने के लिए उपयुक्त माना गया है। इनके दाने में फाइबर और सैपोनिन होता है जो कार्बोहायड्रेट के पाचन और अवशोषण क्रिया में मदद करता है एक रिसर्च के अनुसार खाना खाने के बीस मिनट पहले चार ग्राम मेथी के दाने को लेने से ब्लड बढे हुए शुगर लेवल को कम करता है अगर आप डायबिटीज की कोई मेडिसिन खाते है तो आप मेथी के दाने और मेडिसिन लेने के बिच कम से कम दो घंटे का गैप जरुर रखे और हाँ एक और जरुरी बात अगर कोई प्रेग्नेंट लेडीज को शुगर की प्रॉब्लम है तो उन्हें मेथी के दाने का सेवन नहीं करना चाहिए।

जामुन

शुगर के प्रॉब्लम में जामुन के बीजों का महत्वपूर्ण योगदान है क्यूंकि इनके बीजों में जाम्बोलिन और जम्बोसिन नामक दो यौगिक तत्व मौजूद होते है जो की स्टार्च को चीनी में परिवर्तित करने की दर को धीमा करता है और इन्सुलिन के स्रावित क्रिया को भी कंट्रोल करता है।

दालचीनी

दालचीनी का अक्सर खाने के स्वाद को बढ़ाने में एक मसाले की तरह उपयोग किया जाता है लेकिन शुगर में दालचीनी का भी एक महत्वपूर्ण योगदान है, दालचीनी से कोशिकाएं ग्लूकोज़ को आसानी से अवशोषित करती है।
दालचीनी में इंसुलिन गतिविधि उत्तेजक द्वारा रक्त में शर्करा के स्तर को कम करने की क्षमता है और ये इंसुलिन रिसेप्टर गतिविधि को बेहतर बनाती है लेकिन जो लोग लीवर से सम्बंधित बीमारी से ग्रसित है वे लोग दालचीनी का उपयोग ना करे और कभी दालचीनी का उपयोग ना करें।

एक्सरसाइज

शुगर से ग्रसित लोगों को रोज सुबह वाक पर जाना चाहिए, इस बमारी से ग्रसित जो लोग मोटापे का शिकार है उन्हें तेजी के साथ वाक करना चाहिए और जो वजन में हल्के है उन्हें रोज ग्राउंड में हलके से तेज गति या आराम से दौड़ना चाहिए जैसा आपके अनुकूल हो लेकिन वाक या रनिंग पर जरुर जाएँ इससे आपके शारीर में खून का बहाव तेजी से होता है और शारीर के हर एक अंग तक खून पहुंचता है, डायबिटीज से ग्रसित मरीजों के लिए यह एक्सरसाइज बहुत फायदेमंद होता है, रोजाना आप तिस मिनट तक वाक करे या फिर बीस मिनट रनिंग करे, इससे आपके शुगर लेवल कंट्रोल में रहेगा और साथ ही साथ वजन भी कंट्रोल में रहेगा। डायबिटीज़ को कंट्रोल करना है तो व्यायाम और योगासन को अपने रूटीन में शामिल करें यक़ीन मानिए ब्लड शुगर को कंट्रोल करने का सबसे इफेक्टिव और आसान तरीका है योग।

प्राणायाम

गहरी साँस लेने और छोड़ने से रक्त संचार सही रहता है इससे नर्वस सिस्टम को आराम मिलता है, जिससे अमूमन दिमाग़ शांत रहता है। इसलिए हर किसी को सुबह फ्रेश होने के बाद पद्मासन मुद्रा में बैठकर प्राणायाम करने की सलाह दी जाती है।

From Around the web