Covid-19: जानिए क्यों 5 से 10 दिन कोरोना वायरस के मरीजों के लिए महत्वपूर्ण हैं?

नई दिल्ली: COVID-19 के मामले बढ़ रहे हैं और राज्य सरकारें वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सख्त नियमों पर सख्त तालाबंदी लागू कर रही हैं। अस्पताल के बिस्तर, ऑक्सीजन सिलेंडर और अन्य चिकित्सा सुविधाएं समाप्त हो रही हैं, डॉक्टर हल्के लक्षणों वाले रोगियों को कोविड -19 के साथ घर पर रहने की सलाह
 
Covid-19: जानिए क्यों 5 से 10 दिन कोरोना वायरस के मरीजों के लिए महत्वपूर्ण हैं?

नई दिल्ली: COVID-19 के मामले बढ़ रहे हैं और राज्य सरकारें वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सख्त नियमों पर सख्त तालाबंदी लागू कर रही हैं। अस्पताल के बिस्तर, ऑक्सीजन सिलेंडर और अन्य चिकित्सा सुविधाएं समाप्त हो रही हैं, डॉक्टर हल्के लक्षणों वाले रोगियों को कोविड -19 के साथ घर पर रहने की सलाह दे रहे हैं। हालांकि, बहुत से लोग नहीं जानते कि ऐसे लक्षणों के मामले में खुद की देखभाल कैसे करें और 14 दिनों की वसूली अवधि के दौरान 5 से 10 दिन इतने महत्वपूर्ण क्यों हैं।

देश में जब से दूसरी लहर आई है तब से यह वायरस इतना खतरनाक हो गया है कि मामूली मामले भी बिगड़ सकते हैं। यही कारण है कि कोरोना वायरस के उभरने के लिए पहले 5 से 10 दिन महत्वपूर्ण होते हैं। इसलिए यदि आप ऐसे व्यक्ति हैं जिसने वायरस के लिए सकारात्मक परीक्षण किया है और घर पर हैं, तो यहां कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए:

ऐसे कौन से लक्षण हैं जिन्हें संबोधित करने की आवश्यकता है?

दिन 5 से, लक्षण ‘दूसरे चरण’ में प्रवेश करते हैं, जिसमें प्रतिरक्षा प्रणाली वायरस से लड़ने के लिए एंटीबॉडी का उत्पादन करती है। इस अवधि के दौरान, रोगी के स्वास्थ्य में उतार-चढ़ाव हो सकता है, जैसे ऑक्सीजन के स्तर में गिरावट, बुखार में वृद्धि और भारीपन।

सबसे ज्यादा जोखिम किसे है?

एक संक्रमण से ठीक होने की गंभीरता को निर्धारित करने में उम्र एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार, मोटापे, उच्च कोलेस्ट्रॉल, मधुमेह और प्रतिरक्षा-समझौता की स्थिति वाले रोगियों को अधिक जोखिम होता है।

अगर संक्रमण बढ़ जाए तो क्या करें?

अगर समय रहते इसका पता चल जाए तो यह मरीज को बचाने में मदद कर सकता है। इसलिए यदि मरीज गंभीर हो जाते हैं, तो जल्द से जल्द सलाह के लिए डॉक्टर को बुलाएं या मरीज को उचित देखभाल के लिए अस्पताल में शिफ्ट करें।

From Around the web