ज्यादा मच्छर शरीर पर क्यों काटते हैं ये 99% प्रतिशत लोग नहीं जानते हैं, जो जान लीजिये ये 5 कारण

जहां कहीं भी जलजमाव या गंदगी आदि होती है, वहां मच्छरों का पनपना लाजमी है। ये मच्छर (Mosquitoes) लोगों को अपना शिकार् बनाकर कई तरह की बीमारियां फैलाते हैं। आमतौर पर तो ये मादा मच्छर सभी लोगों को काट सकते हैं, लेकिन एक रिसर्च में यह बात सामने आई है कि लगभग 20 प्रतिशत तक
 
ज्यादा मच्छर शरीर पर क्यों काटते हैं ये 99% प्रतिशत लोग नहीं जानते हैं, जो जान लीजिये ये 5 कारण

जहां कहीं भी जलजमाव या गंदगी आदि होती है, वहां मच्छरों का पनपना लाजमी है। ये मच्छर (Mosquitoes) लोगों को अपना शिकार् बनाकर कई तरह की बीमारियां फैलाते हैं। आमतौर पर तो ये मादा मच्छर सभी लोगों को काट सकते हैं, लेकिन एक रिसर्च में यह बात सामने आई है कि लगभग 20 प्रतिशत तक लोग ऐसे होते हैं, जिनकी ओर ये मच्छर अधिक आकर्षित होते हैं और उन्हीं को ज्यादा काटते हैं। इस आर्टिकल में हम इसी के बारे में बताने वाले हैं कि ऐसे क्या कारण है, जिनकी वजह से मच्छर ज्यादा अट्रैक्ट होते हैं।

सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन

1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 

1. विशेष ब्लड् ग्रुप के कारण –

ज्यादा मच्छर शरीर पर क्यों काटते हैं ये 99% प्रतिशत लोग नहीं जानते हैं, जो जान लीजिये ये 5 कारण

कुछ खास ब्‍लड् ग्रुप के लोगों को भी मच्छर अधिक काटते हैं। जैसे O ब्‍लड् ग्रुप के लोगों को। इस ब्लड ग्रुप के लोगों को मच्छर बड़ी आसानी से पहचान लेते हैं और उनका खून चूसने के लिए पीछे लग जाते हैं। क्योंकि ये ब्‍लड् ग्रुप, बाकी ब्‍लड् ग्रुप्स के मुकाबले मच्छरों को ज्यादा आकर्षित करता है। उदाहरण के तौर पर B ब्‍लड् ग्रुप के लोगों को मच्छर काफी कम या सामान्य तौर पर काटते हैं।

2. कार्बन डाईआक्साइड से होते हैं आकर्षित –

मच्छरों को आकर्षित करने का एक कारण कार्बन डाइऑक्साइड गैस भी है। ये मच्छर (Mosquitoes) करीब डेढ़ सौ फीट दूरी से ही कार्बन डाइऑक्साइड गैस की पहचान कर लेते हैं। यही कारण है कि यह मनुष्य के इर्द-गिर्द मंडराते रहते हैं। क्योंकि हम सांस द्वारा कार्बन डाइऑक्साइड हीं छोड़ते हैं, जिसे यह आसानी से सेंस कर लेते हैं।

3. शरीर की गर्मी –

इसके अलावा हमारे शरीर की गर्मी भी मच्छरों को आकर्षित कर सकती है। विशेषकर गर्मी के दिनों में जब हमारे शरीर का तापमान अधिक होता है, तब ये ज्यादा मंडराते हैं। साथ ही अधिक पसीना होने पर भी यह मच्छर (Mosquitoes) ज्यादा करते हैं। कारण यह कि हमारे शरीर से निकलने वाले पसीने में मौजूद लैक्टिक एसिड एवं यूरिक एसिड इत्यादि मच्छरों को अट्रैक्ट करते हैं। वे सूंघ कर इसका पता लगा सकते हैं। इसके अतिरिक्त तेज परफ्यूम भी मच्छरों को अधिक आकर्षित करते हैं।

4. गाढ़ा रंग –

कपड़ों का रंग भी मच्छरों को अपना शिकार ढूंढने में मदद करता है। ऐसे में जब भी कोई व्यक्ति गाढ़े रंग जैसे, काला, लाल, या डार्क ब्लू रंग का कपड़ा पहनता है, तो ऐसे लोगों को मच्छर (Mosquitoes) अपनी तेज नजरों से जल्दी ढूंढ लेते हैं। इसलिए ऐसे डार्क रंग के कपड़े पहनने पर भी मच्छर ज्यादा काटते हैं।

5. प्रेग्नेंसी के दौरान –

ज्यादा मच्छर शरीर पर क्यों काटते हैं ये 99% प्रतिशत लोग नहीं जानते हैं, जो जान लीजिये ये 5 कारण

एक अध्ययन में यह पाया गया कि ये प्रेग्नेंसी के दौरान एक स्त्री को किसी अन्य व्यक्ति के मुकाबले ज्यादा मच्छर काटते हैं। कारण यह कि वे किसी सामान्य स्त्री की तुलना में ज्यादा कार्बन डाइऑक्साइड गैस उत्सर्जित करती हैं। साथ ही उनका पेट किसी अन्य व्यक्ति की अपेक्षा अधिक गर्म भी होता है, जिससे वे मच्छरों को अधिक आकर्षित करते हैं।

From Around the web