अगर आप भी सैनिटाइजर का ज्यादा इस्तेमाल कर रहे है , तो एक बार इसके हानिकारक प्रभावों को ज़रूर पढ़ ले

भारत में कोरोना संक्रमण बहुत तेजी से फैल रहा है। हर कोई इसे दूर करने की कोशिश कर रहा है। कोरोना महामारी की रोकथाम में स्वच्छता की महत्वपूर्ण भूमिका है। स्वच्छता के लिए आग्रह के कारण, लोगों के बीच हैंड सैनिटाइज़र का उपयोग भी बहुत बढ़ गया है। हालांकि, विशेषज्ञों का कहना है कि हैंड
 
अगर आप भी सैनिटाइजर का ज्यादा इस्तेमाल कर रहे है , तो एक बार इसके हानिकारक प्रभावों को ज़रूर पढ़ ले

भारत में कोरोना संक्रमण बहुत तेजी से फैल रहा है। हर कोई इसे दूर करने की कोशिश कर रहा है। कोरोना महामारी की रोकथाम में स्वच्छता की महत्वपूर्ण भूमिका है। स्वच्छता के लिए आग्रह के कारण, लोगों के बीच हैंड सैनिटाइज़र का उपयोग भी बहुत बढ़ गया है। हालांकि, विशेषज्ञों का कहना है कि हैंड सेनिटाइजर का उपयोग केवल तब किया जाना चाहिए जब साबुन और पानी उपलब्ध न हो। सैनिटाइजर का बहुत ज्यादा इस्तेमाल नुकसान पहुंचा सकता है।

सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन

1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 

कई अध्ययनों में यह पाया गया है कि हैंड सैनिटाइजर में अल्कोहल की मात्रा अधिक होने के कारण यह वायरस को मारने में सक्षम है।

हालांकि, बाद के अध्ययनों ने इसके अत्यधिक उपयोग के साइड इफेक्ट भी दिखाए हैं।

यह पाया गया है कि सैनिटाइजर के अत्यधिक उपयोग से हाथों में सूखापन, खुजली और कई अन्य समस्याएं हो सकती हैं।

सीएसआईआर-इंस्टीट्यूट ऑफ टॉक्सिकोलॉजी रिसर्च के डॉ। आलोक धवन ने कहा,

‘हैंड सैनिटाइजर का इस्तेमाल सावधानी के साथ किया जाना चाहिए।

इसका उपयोग केवल तब करें जब साबुन और पानी उपलब्ध न हो।

सैनिटाइज़र के दो से तीन मिलीलीटर के उपयोग से कोई नुकसान नहीं है

, लेकिन हर 20 मिनट में सैनिटाइज़र का उपयोग करते रहना सही नहीं है।

किसी भी चीज के बहुत ज्यादा इस्तेमाल से बुरा असर पड़ता है।

अगर आप भी सैनिटाइजर का ज्यादा इस्तेमाल कर रहे है , तो एक बार इसके हानिकारक प्रभावों को ज़रूर पढ़ ले

कोरोनावायरस संकट में संक्रमण से बचने के लिए विभिन्न उपाय अपनाए जा रहे हैं।

सब्जियों, फलों और अन्य खाद्य और अन्य सामग्रियों को भी सैनिटाइजर से साफ किया जाता है

जो आमतौर पर हाथों को साफ करने के लिए उपयोग किया जाता है।

जबकि ऐसा करना घातक है।

इस प्रकार के सैनिटाइज़र के साथ खाने-पीने की चीज़ों की सफाई करने से लोगों को स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं हो सकती हैं।

पीजीआई चंडीगढ़ के डिपार्टमेंट ऑफ कम्युनिटी मेडिसिन एंड स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ के प्रोफेसर सोनू गोयल का कहना है

कि नियमित सैनिटाइजर का इस्तेमाल केवल हाथों और धातुओं से बनी चीजों को सैनिटाइज करने के लिए किया जा सकता है।

From Around the web