आनानस का सेवन आपको ये खास फायदे दे सकता है , पढ़ें अभी

यह अनानस का फल भारत मे असम, त्रिपुरा,केरल,प्रश्र्मि बंगाल मे होता है। यह फल स्वादिष्ट और विशेष सुगंदमय होने के कारण लोग काफी पंसद करते है। अनानस खाने शरीर के अंगो को जरुरी मात्रा मे पोषक तत्वों मिल जाते हे जिसके कारण शरीर कार्य करने मे सक्षम रहेता है। कई तरह कि बिमारी से भी
 
आनानस का सेवन आपको ये खास फायदे दे सकता है , पढ़ें अभी

यह अनानस का फल भारत मे असम, त्रिपुरा,केरल,प्रश्र्मि बंगाल मे होता है।

यह फल स्वादिष्ट और विशेष सुगंदमय होने के कारण लोग काफी पंसद करते है। अनानस खाने शरीर के अंगो को जरुरी मात्रा मे पोषक तत्वों मिल जाते हे जिसके कारण शरीर कार्य करने मे सक्षम रहेता है। कई तरह कि बिमारी से भी आनानस छुटकारा दिलाने मे काफि उपयोगी फल है।

आनानस खाने के फायदे क्या क्या है

बदहजमी : आनानस का सेेवन टोनिक के रूप मे उपयोग किया जाता है। इसके रस को पीने सेे पाचनक्रिया मे आने वालेे सभी अवरोध को दूर करता है।और बदहजमी को ठीक करता है।

गले के विकारोमे : आनानस का ताजा रस गले के लिए बहोत ही लाभदायक है। इससेे गले कि ध्वनि को यानी आवाज को सुदंर से अतिसुंदर बनाने के लिए बहोत उपयोगी

है। यह गायको के लिए बहोत उपयोगी है जो गले को स्वस्थ रखता है।

गुरदे की अनियमितताएं : आनानस के रस मे पर्याप्त मात्रा मे केलोरीन रहता है। यह गुरदे कि गतिविधियों को उत्तेजित करता है। शरीर मे बहोत ही अन उपयोग प्रदार्थ को निकाल देता है। इसी के कारण रोग मे काफी राहत रहती है।

त्वचा सबंधी : अनानस के ताजा रस को तव्चा के किसी घाव पर लगाने घाव भरने का कार्य करता है। गोखरू, मसा पर रस लगाने से धीरे धीरे धूल जाता है।

गर्भपात : अनानस मे गर्भपात करवाने के गुण विद्यमान है। इसका जो रस होता हो वो गर्भपात को संकुचित करने मे काफि सहायक माना गया है ।

धुम्रपान : आनानस का नियमित सेवन करने से धुम्रपान से छुटकारा पा सकते हो। धुम्रपान करने से शरीर मे विटामिन सी की कमी हो जाती है। जो आनानस का नियमित का सेवन करने से विटामिन सी की प्राप्ति होती है।

क्षय रोग की बिमारी से मी छुटकारा पा सकते हो।

From Around the web