आपके इष्ट देव कौन हैं, क्लिक करके यहां जानिए

विश्वास के अनुसार प्रत्येक व्यक्ति के इष्ट देव होते हैैं। प्रत्येक व्यक्ति अपने इष्ट देवों की पूजा करके जीवन में सफलताएं अर्जित करता है। किसी भी देवता की अध्यक्षता कुंडली के आधार पर नहीं की जा सकती है।आपका अध्यक्ष देवता वही होगा जो किसी कारणवश आप उसकी तरफ आकर्षित हुए हैं। लेकिन कई बार मनुष्य
 
आपके इष्ट देव कौन हैं, क्लिक करके यहां जानिए

विश्वास के अनुसार प्रत्येक व्यक्ति के इष्ट देव होते हैैं। प्रत्येक व्यक्ति अपने इष्ट देवों की पूजा करके जीवन में सफलताएं अर्जित करता है। किसी भी देवता की अध्यक्षता कुंडली के आधार पर नहीं की जा सकती है।आपका अध्यक्ष देवता वही होगा जो किसी कारणवश आप उसकी तरफ आकर्षित हुए हैं। लेकिन कई बार मनुष्य ग्रह दोष का शिकार हो जाता है। इस दोष से छुटकारा पाने के लिए आपको ग्रह प्रधान देवता की पूजा करना होता है, तो आइए यहां जानते हैं आपके इष्ट देव कौन हैं।

सूर्य- सूर्य से संबंधित ग्रह दोष को दूर करने के लिए सूर्य देवता की पूजा की जाती है तथा गायत्री मंत्र का जाप किया

जाता है।

चन्द्रमा- चंद्र दोष से छुटकारा पाने के लिए भगवान शिव की पूजा की जाती है तथा ॐ नमः शिवाय मंत्र का जाप

किया जाता है।

मंगल– मंगल दोष को दूर करने के लिए हनुमान जी की पूजा करना श्रेष्ठ रहता है।

बृहस्पति– बृहस्पति दोष को दूर करने के लिए भगवान श्री हरि की पूजा करें।

बुध– बुध से संबंधित समस्याओं से छुटकारा पाने के लिए मां दुर्गा की पूजा की जाती है।

शुक्र– शुक्र दोष को दूर करने के लिए मां लक्ष्मी की पूजा करना श्रेष्ठ होता है।

शनि– शनि की साढ़ेसाती से बचने के लिए भगवान शिव और शनि की पूजा की जाती है।

राहु- राहु दोष को दूर करने के लिए भगवान भैरव को प्रधान देवता माना जाता है।

केतु– केतु से संबंधित समस्याओं से छुटकारा पाने के लिए भगवान श्री गणेश की पूजा करें।

From Around the web